LOC पर भारत की जवाबी कार्रवाई में मारे गए 15 पाकिस्तानी सैनिक और आठ आतंकी

New Delhi : जम्मू-कश्मीर के केरन सेक्टर के पास नियंत्रण रेखा (LOC) के नजदीक आतंकवादियों के लॉन्च पैड पर बीते 10 अप्रैल को भारतीय सेना के आर्टिलरी हमले में 8 आतंकी और 15 पाकिस्तानी सेना के जवान मारे गये हैं। हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक घटना से जुड़े एक अधिकारी ने कहा – यह पाकिस्तान के लिए एक संदेश था कि गलतियों का नतीजा भुगतना होगा। पाकिस्तान के संघर्ष विराम उल्लंघन का जवाब देते हुए भारतीय सेना ने किशनगंगा नदी के किनारे दुधनियाल को निशान बनाया था, जहां आतंकवादियों के लॉन्च पैड थे। यह हमला पहाड़ों पर बसे केरन सेक्टर से किया गया, जहां 5 अप्रैल को भारतीय सेना के स्पेशल कमांडो ने पांच आतंकवादियों को मार गिराया था।
घटना की जानकारी रखने वाले ने बताया कि इस पांच आतंकवादियों में से 3 जम्मू-कश्मीर से थे, जबकि अन्य 2 की ट्रेनिंग जैश-ए-मोहम्मद के साथ हुई है। हालांकि उनकी पहचान के लिए और कोशिशें जारी हैं। पाकिस्तानी सेना ने भी पुष्टि की है कि भारतीय सेना ने एलओसी से सटे शारदा, दुधनियाल और शाहकोट सेक्टर में गोलीबारी की है, लेकिन उन्होंने सिर्फ चार नागरिकों के गंभीर तौर पर घायल होने की बात कही है, जिसमें एक 15 साल की लड़की भी शामिल है।
इतना ही नहीं, इस्लामाबाद ने यह भी आरोप लगाया कि भारतीय सेना ने इस साल अब तक 708 बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया है और इस कार्रवाई में 2 नागरिक मारे गए, जबकि 42 अन्य जख्मी हुए हैं। पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने यह भी कहा कि हमारी सेना ने भारतीय हमले का जवाब देते हुए एलओसी से सटे भारतीय सैन्य चौकियों पर आर्टिलरी गन और मोर्टार से हमला किया।


इधर पाक अधिकृत कश्मीर (POK) के नीलम वैली में भारी नुकसान से बौखलाई पाकिस्तानी सेना ने एलओसी पर बालाकोट, शाहपुर, कस्बा, कीरनी और मेंढर सेक्टर में भारी गोलाबारी की। इसमें एक जवान और एक महिला घायल हो गई। कई मकान क्षतिग्रस्त हो गए। भारत की मुंहतोड़ जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान को भारी नुकसान उठाना पड़ा है। उसकी कई चौकियां तबाह हो गई हैं। पांच सैनिकों के मारे जाने की सूचना है। साथ ही कई सैनिक घायल भी हुए हैं। गोलाबारी से एलओसी के रिहायशी इलाकों में दहशत है।
पाकिस्तान की ओर से शुक्रवार को पूरी रात एलओसी पर बालाकोट सेक्टर में गोलाबारी की गई। शनिवार सुबह साढ़े नौ से दोपहर साढ़े 12 बजे तक शाहपुर और कस्बा-कीरनी में भी गोलाबारी की। देर शाम पाकिस्तान ने दोबारा बालाकोट, कस्बा, कीरनी व शाहपुर सेक्टर में अग्रिम चौकियों के साथ ही रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर गोलाबारी की।
पाकिस्तानी गोलाबारी में बालाकोट सेक्टर में घायल हुए जवान की पहचान 12 मद्रास रेजीमेंट के सिपाही राजेश रेड्डी के रूप में हुई है। उसे प्राथमिक उपचार के बाद सैन्य अस्पताल, राजोरी रेफर किया गया है।
इसी सेक्टर के ननजोट गांव में सलीमा बी (45) भी पाकिस्तान की गोलाबारी में घायल हो गईं। गोलाबारी में बालाकोट क्षेत्र के गांव पंचायत चौकी में कई मकानों को नुकसान पहुंचा। इनमें अकबर जान का मकान पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। शुक्रवार को एलओसी पर केरन सेक्टर में गोलाबारी की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान को पीओके की नीलम घाटी में भारी नुकसान उठाना पड़ा था। पाकिस्तान के लांचिंग पैड और चौकियां भी तबाह हुईं। साथ ही सेना ने आयुध भंडार को भी निशाना बनाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four + three =