बेटी की शादी तय थी, फसल से उम्मीद थी, ओलावृष्टि में नष्ट हुई फसल, सदमे में किसान की मौ’त

New Delhi : Uttar Pradesh के जालौन जिला स्थित कुठौंद थाना क्षेत्र के मंडोरा गांव में ओलावृष्टि से खेत में खड़ी नष्ट फसलदेखकर सोमवार को एक किसान को इस कदर सदमा लगा कि उसकी मौत हो गई।

कुठौंद के तहसीलदार बलराम गुप्ता ने बताया कि दो बीघा कृषि भूमि वाला किसान प्रदीप सिंह (45) सोमवार सुबह खेत में बोई मटर कीफसल देखने गया था, जहां वह बेहोश होकर गिर गया। परिजन उसे नजदीकी अस्पताल ले गए, लेकिन चिकित्सकों ने देखते ही उसे मृघोषित कर दिया। हाल ही में हुई ओलावृष्टि की चपेट में आकर उसकी मटर की पूरी फसल नष्ट हो गई है। किसान के कीपोस्टमॉर्टम रिपोर्ट मिलने के बाद आश्रितों को नियमानुसार सरकारी आर्थिक मदद दिलाई जाएगी। मृ किसान के बेटे अंकित ने बतायाकि बहन की शादी तय हो गई थी। इस बार मटर की अच्छी पैदावार से कुछ उम्मीद बढ़ी थी, लेकिन ओलावृष्टि से पूरी फसल नष्ट होगई। इसी से पिता को सदमा लगा और उनकी मौत हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

forty two − thirty eight =