जांबिया के राष्ट्रपति ने भारत को कहा Thank you, दोनों देशों के बीच कई समझौतों पर हस्ताक्षर

New Delhi: जांबिया के राष्ट्रपति भारत दौरे पर हैं उन्होंने भारत का सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि जाम्बिया के लोग भारत की ओर से मिलने वाले समर्थन के लिए आभारी हैं। मेरे भारत के दौरे के अच्छे परिणाम शुरू हो गए हैं। हमने रक्षा, शिक्षा, चिकित्सा, कला और संस्कृति, चुनाव के साथ-साथ 2 राजनयिक प्रशिक्षण संस्थानों में समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं।

इससे पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने आज भारत और जाम्बिया के संबंधों पर बोलते हुए कहा कि भारत और जाम्बिया का संबंध जाम्बिया की स्वतंत्रता से भी पुराना है। यह भारत का एक महत्वपूर्ण मित्र और भरोसेमंद साथी है। मोदी ने आगे कहा कि दोनों देशों के लोकतांत्रिक मूल्य समान हैं। इसके अलावा दोनों देश विकास चाहते हैं। ये सभी समानताएं दोनों देशों को जोड़ती है।

आपको बता दें कि आज अफ्रीकी देश जांबिया के राष्ट्रपति एडगर चाग्वा लुंगू तीन दिवसीय दौरे पर भारत पहुंचे थे। इस दौरान वह राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। हैदराबाद हाउस में मोदी और एडगर चाग्वा लुंगू के बीच दोनों देशों के बीच संबंधों पर बातचीत हुई।

विदेश मंत्रालय के एक बयान के अनुसार इस दौरे के दौरान होने वाली चर्चा में रक्षा, सुरक्षा, भूविज्ञान और खनिज संसाधनों, ऊर्जा, स्वास्थ्य, शिक्षा, बुनियादी ढांचे, संस्कृति, व्यापार और निवेश से संबंधित मुद्दों पर दोनों देशों के बीच महत्वपूर्ण निर्णय लिए जाने की संभावना है।
केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने भी जांबिया के राष्ट्रपति से मुलाकात की है। जांबिया के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि पर राजघाट पहुंचे और बापू को श्रद्धांजलि अर्पित की।

बता दें कि भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अप्रैल महीने में जांबिया का दौरे पर गए थे। इस दौरान उन्होंने जांबिया के राष्ट्रति लुंगु को भारत आने का न्यौता दिया था। जांबिया के राष्ट्रपति के साथ-साथ वहां के विदेश मंत्री जोसेफ मलांजी, वाणिज्य एवं व्यापार मंत्री क्रिस्टोफर यालुमा, खान एवं खनिज मंत्री रिचर्ड मुसुक्वा, राष्ट्रपति मामलों के मंत्री फ्रीछम सिकाजवे तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी भारत दौरे पर आए हैं।