युवराज ने कहा – धोनी और कोहली से कभी वैसा सपोर्ट नहीं मिला, दादा ग्रेट हैं

New Delhi : India Team के पूर्व ऑलराउंडर Yuvraj Singh ने Mahendra Singh Dhoni और Virat Kohli को लेकर एक खुलासा किया है। युवराज ने Sports Star channel को दिए इंटरव्यू में कहा कि सौरव गांगुली की कप्तानी में मुझे काफी समर्थन मिला था। इतना सपोर्ट मुझे महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली से कभी नहीं मिला। दरअसल, युवराज ने पिछले साल ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। वे 2007 टी-20 और 2011 वनडे वर्ल्ड कप विजेता टीम के सदस्य थे। 2011 में युवी को मैन ऑफ द टूर्नामेंट भी चुना गया था। दोनों ही बार भारतीय टीम के कप्तान धोनी थे।

युवराज ने कहा – मैंने सौरव गांगुली के साथ क्रिकेट खेला है। उनकी कप्तानी में मुझे बहुत सपोर्ट मिला था। इसके बाद माही (धोनी) ने टीम की कमान संभाली। सौरव और माही में से किसी एक को चुनना काफी मुश्किल था। मेरी ज्यादातर यादें सौरव के साथ जुड़ी हुई हैं, क्योंकि उन्होंने मेरा ज्यादा सपोर्ट किया है। इस तरह का समर्थन मुझे माही और विराट कोहली से कभी नहीं मिला।
युवराज ने कहा – भारतीय टीम में एक अच्छे व्यक्ति की जरूरत है, जो मैदान के बाहर के सभी मामलों पर खिलाड़ियों से बात कर सके। इन मामलों की वजह से खिलाड़ी के प्रदर्शन पर असर पड़ता है। उन्हें एक ऐसे मनोवैज्ञानिक की जरूरत है, जो कि उनके निजी मुद्दों पर उनसे बातचीत कर सके। खिलाड़ियों को बेहतर इंसान बना सके। हमारे पास ऐसे कप्तान थे जो कि जीवन से जुड़े दूसरे मुद्दों पर भी बात करते थे। वह असफलता के डर जैसे मामलों पर भी बातचीत करते थे और इससे काफी मदद मिलती थी। टीम को संभवत उनके जैसे की जरूरत है।
युवराज ने करियर को लेकर कहा – मैंने 2000 में डेब्यू किया था। उस समय कोई आईपीएल नहीं था। मैं अपने आदर्श खिलाड़ियों को सिर्फ टीवी पर ही खेलते देखता था, लेकिन अचानक मुझे उनके साथ बैठने का मौका मिला। उन सभी के लिए मेरे मन में बहुत सम्मान है। उन्हीं सब सीनियर खिलाड़ियों से मैंने मीडिया के सामने बात करना सीखा है। अपने व्यवहार के बारे में आज मुश्किल से ही कोई सीनियर खिलाड़ी अपने जूनियर्स को गाइड करता होगा।

युवी ने 2000 चैम्पियंस ट्रॉफी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच से करियर की शुरुआत की थी। तब टीम के कप्तान गांगुली ही थे। इसके बाद युवी ने राहुल द्रविड़, वीरेंद्र सहवाग, गौतम गंभीर, धोनी और कोहली की कप्तानी में भी क्रिकेट खेला। उन्होंने 2007 टी-20 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड के खिलाफ एक ओवर में 6 सिक्स भी लगाए थे। युवी ने 40 टेस्ट में 1900, 304 वनडे में 8701 और 58 टी-20 में 1177 रन बनाए हैं। उन्होंने गांगुली की कप्तानी में खेले गए 110 वनडे में 2640 रन बनाए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ 31 = thirty three