युवा कांग्रेस ने भारी भरकम ट्रैफिक जुर्माने के ख़िलाफ़ नितिन गडकरी के घर के बाहर किया प्रदर्शन

New Delhi : केंद्र सरकार के नए ट्रैफिक जुर्माने का देश की प्रमुख विपक्षी पार्टियाँ और आम नागरिक लगातार विरोध जता रहे है. उन्होंने इस भारी भरकम जुर्माने को शोषणकारी और सरकार का राजस्व बढ़ाने वाला बताया है। इसी को लेकर बुधवार को भारतीय युवा कांग्रेस (IYC) ने मोटर व्हीकल ऐक्ट 2019 में बढ़े हुये जुर्माने और प्रावधानों के खिलाफ सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के आवास के बाहर विरोध प्रदर्शन किया।

इस पहले बढ़े हुये जुर्माने पर केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि नए नियम के चलते जो जु’र्माने लग रहे हैं वह सरकार की आय बढ़ाने के लिए नहीं है। इस नियम के माध्यम् से सरकार सड़क दु’र्घ’टना में होने वाली 15 लाख मौ’तों को रोकना चाहती है। उनका कहना है केंद्र सरकार का मकसद ट्रैफिक जुर्माने से राजस्व कमाना नहीं है। सरकार चाहती है कि सभी लोग जुर्माने के डर से ट्रैफिक नियमों का पालन करने लगें। सड़क हादसे में मारे जाने वालो की संख्या में कमी आये।

गौरतलब है कि 1 सितंबर को संशोधित मोटर वाहन अधिनियम के लागू होने के बाद से राजधानी में चालान की संख्या में भारी गिरावट दर्ज की गई है। अब तक चालानों की संख्या में 70 प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई है।चालान की राशि में भारी बढ़ोतरी होने के बाद अब ट्रैफिक नियमों का पालन करने वाले लोगों की संख्या में बढ़त देखी गई है। जहां पिछले महीने एक दिन में औसतन 16,788 लोगों का चालान का’टा जाता था वहीं अब ये संख्या घटकर 4,813 पर आ गई है।