सचिवालय में विभागों के पुनर्गठन प्रस्ताव पर बोले योगी, अभी इस पर और चर्चा की जानी चाहिए

New Delhi: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कैबिनेट की। यह बैठक लखनऊ के लोकभवन में हुई। बैठक में जब सचिवालय में विभागों के पुनर्गठन का प्रस्ताव लाया गया तो सीएम ने कहा कि इस पर अभी और चर्चा की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि जल्द से जल्द विचार विमर्श करिए और फिर कैबिनेट में प्रस्ताव रखिए।

बता दें कि पिछले महीने मुख्यमंत्री ने बैठक में यह निर्देश दिया था कि अगली बैठक में सचिवालय में विभागों के पुनर्गठन प्रस्ताव को रखा जाए। यहां तक कि उन्होंने पिछली बार ही सैद्धांतिक रूप से सहमति दे दी थी। इस प्रस्ताव के तहत सचिवालय के कई विभागों (जो एक जैसे हैं) को आपस में मिलाया जाना था। इसके अतिरिक्त कुछ नए विभागों को बनाना भी था। इसके अतिरिक्त सीएम ने यह भी संकेत दिए थे कि मंत्रिमंडल में भी फेरबदल हो सकता है।

बता दें कि कुछ दिनों पहले यह कहा जा रहा था कि योगी सरकार अपने कैबिनेट में कुछ फेरबदल कर सकती है। इसमें कुछ मंत्रियो के पद में प्रोन्नति की जाएगी, कुछ को हटाया जा सकता है, और कुछ नए मंत्रियों को शामिल किया जा सकता है। मंत्रियों को हटाने या प्रोन्नति करने का आधार उनकी परफॉरमेंस होगा।

कहा जा रहा था कि लोकसभा चुनाव में भारी जीत हासिल करने के बाद योगी के मंत्रिमंडल में पिछड़ों व दलितों की भागीदारी बढ़ाई जाएगी। इसमें कोई जाट मंत्री नहीं है, नए मंत्रियों की नियुक्ति में इसका भी ध्यान रखा जाएगा। हालांकि प्रदेश कैबिनेट में ये बदलाव कब होगा इसकी जानकारी नहीं दी गई थी । लेकिन कयाश लगाए जा रहे हैं कि विधानमंडल के मानसून सत्र से पहले या उसके तुरंत बाद हो सकता है।

योगी की कैबिनेट में होगें बड़े पैमाने पर बदलाव, कुछ मंत्री हटाए जाएंगे तो कुछ का होगा प्रमोशन