IIM लखनऊ में ‘लीडरशिप’ की ट्रेनिंग लेने पहुंचे योगी और उनके मंत्री, तय करना सीखेंगे प्राथमिकता

New Delhi: रविवार यानि आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट के मंत्री आईआईएम लखनऊ में लीडरशिप डेवलपमेंट की ट्रेनिंग ले रहे हैं। इस कार्यक्रम में मंत्रियों के साथ योगी भी मौजूद हैं। इसमें प्रबंधन गुरू. मंत्रियों को नैतिक राजनीतिक के सूत्र सहित कई जानकारी देंगे। 

इतना ही नहीं इसी दौरान मंत्रियों का ग्रुप डिस्कशन और प्रजेंटेशन भी कराया जाएगा। प्रबंधन गुरू उन्हें ट्रेनिंग के दौरान प्राथमिकताएं तय करना सिखाएंगे यानि विकसित राज्यों की तुलना में उत्तर प्रदेश के सामाजिक- आर्थिक आधार से की जाएगी। यह संस्थान तीन सत्र आयोजित करेगा। जिसमें पहले सत्र में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और आईआईएम डायरेक्टर का संबोधन हुआ। वहीं दूसरे सत्र में प्रो. संजय सिंह प्रदेश के सामाजिक-आर्थिक संरचना का खाका खीचेंगे।

पहले सत्र का समय सुबह साढ़े नौ बजे से शाम साढ़े छह बजे तक रखा गया है। सुबह 11:45 से दोपहर एक बजे तक ग्रुप डिस्कशन और प्राथमिकताओं का निर्धारण किया जाएगा। इसमें बताया जाएगा कि देश-दुनिया और विकसित राज्यों की तुलना में यूपी की स्थिति कहां है। इस प्रोग्राम के  तहत नए से लेकर पुराने सभी मंत्री शामिल होंगे।

योगी सरकार ने किसानों से किया वादा निभाया,कर्जमाफी योजना के सफल होने के बाद बंद करने की तैयारी

दरअसल, कुछ समय पहले योगी मंत्रिमंडल में विस्तार हुआ है। इसमें कई नए चेहरे शामिल किए गए हैं तो कुछ पुराने मंत्रियों का प्रमोशन हुआ है। पहली बार कई विधायक भी मंत्री बने हैं। जिससे सभी को यह जानकारी हो कि किसी भी क्षेत्र की प्राथमिकताएं क्या हैं? उन्हें कैसे तय करना है ?  उनका प्रबंधन कैसे करना है, इन सब बातों की जानकारी होना आवश्यक है। इसके साथ ही अन्य कई बातें इस दौरान बताई जाएंगी जो प्रदेश के विकास में बहुत लाभदायक साबित होंगी।

योगी मंत्रिमंडल का पहला विस्तार,23 मंत्रियों ने ली शपथ,18 नए चेहरे शामिल तो 5 का हुआ प्रमोशन