योगी ने नए मंत्रियों को सिखाया सदाचार का पाठ, कहा-जनता की सेवा करना सबसे बड़ा पुण्य का काम है

New Delhi : उत्तर प्रदेश कैबिनेट का विस्तार करने के बाद योगी आदित्यनाथ ने कल शाम नए मंत्रियों के साथ बैठक की। सीएम ने उनके सामने अपने सरकार के एजेंडे को रखा। उन्होंने मंत्रियों को नैतिकता का पाठ पढ़ाते हुए कहा कि किसी भी काम में पारदर्शिता और ईमानदारी बहुत जरूरी है।

बता दें कि योगी ने एनेक्सी स्थित अपने कार्यालय में यह बैठक की। इस बैठक में नए और पुराने मंत्री, दोनों मौजूद थे। उन्होंने मंत्रियों को नसीहत दी कि ट्रांसफर और पोस्टिंग में भ्रष्टाचार से दूर रहें। उन्होंने कहा कि जनता का प्रतिनिधि होने के नाते सार्वजनिक जीवन से जुड़े दायित्वों में परिवार का हस्तक्षेप बिल्कुल नहीं होना चाहिए। तीन दिन के अंदर फाइल का निस्तारण करें साथ ही अपने निजी स्टाफ पर विशेष नजर रखें। योगी ने कहा कि जनता की सेवा से बढ़कर पुण्य का काम दुनिया में कोई नहीं है इसलिए प्रतिबद्ध होकर निष्ठा के साथ अपने दायित्वों को निभाएं।

पीएम मोदी के दौरे के पहले आज काशी जाएंगे मुख्यमंत्री योगी, करेंगे विकास कार्यों की समीक्षा

समय पर बल देते हुए योगी ने कहा कि सभी मंत्री अपने दफ्तर समय पर पहुंचे और सभी कार्यों को टालने की बजाय समय पर निपटाएं। हमारा कार्य ऐसा होना चाहिए जिसे जनता याद करें। मुख्यमंत्रियों ने कहा जब भी जिले का भ्रमण करने जाएं तब सादगी का उदाहरण पेश करें। सरकार के प्रतिनिधि के रूप में मंत्रियों पर भी जनता की नजर रखती है इसलिए सरकारी गेस्ट हाउस में ही रुके। अंत में उन्होंने कहा कि हर माह के अंत में जिले की प्रगति रिपोर्ट सौंपी जाए।

आईजीआरएस तथा सीएम हेल्पलाइन की साप्ताहिक समीक्षा करने की सलाह देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि  समस्याओं का निस्तारण करें और कार्य की प्रगति पर लगातार ध्यान दें।

योगी मंत्रिमंडल का पहला विस्तार,23 मंत्रियों ने ली शपथ,18 नए चेहरे शामिल तो 5 का हुआ प्रमोशन