अलगाववादी नेता यासीन की पत्नी ने पाकिस्तान की राजधानी में एक ध्वजारोहण समारोह को संबोधित किया

New Delhi: आज ही के दिन यानी 14 अगस्त को पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान आजाद हुआ था। इस मौके पर अलगाववादी नेता यासीन मलिक की पत्नी मुशाल हुसैन मलिक ने पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में एक ध्वजारोहण समारोह को संबोधित किया। यह खबर न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने पाकिस्तान मीडिया के हवाले से ट्वीट किया। यासीन कश्मीर में एक प्रमुख अलगाववादी नेता रहा है। मुशाल हुसैन मलिक पाकिस्तान की रहने वाली है।

फिलहाल यासीन मलिक आतंकवाद के वित्त पोषण के मामलों के संबंध में जेल में है। हाल ही में हुए पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद केंद्र की मोदी सरकार ने यासीन की नेतृत्व वाली जम्मू- कश्मीर लिबरेशन फ्रंट(JKLF) पर बैन लगा दिया था। बैन आतंकवाद विरोधी कानून के तहत हुआ था। यासीन हमेशा से ही कश्मीर को अलग करने की मांग करता आया है। यासीन को कई बार नजरबंद किया जा चुका है।

आज तक छपी एक खबर के मुताबिक़ यासीन 1988 में JKLF से जुड़ा था। तब वह श्री प्रताप कॉलेज में पढ़ाई करता था। 2009 में यासीन मलिक पाकिस्तान की मुशहाल हुसैन के साथ वैवाहिक बंधन में बंधा। यासीन मलिक की एक बेटी है। मलिक की पत्नी लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स से पढ़ाई कर चुकी है।