बाढ़ में फं’सी महिलाओं को सेना ने बचाया, राखी बांध महिला बोली- भाई आप हमारे रक्षक हो

New Delhi : रक्षाबंधन का त्यौहार करीब है। वहीं भारत के कई दक्षिणी राज्य बाढ़ का कहर झेल रहे हैं। NDRF और सेना के जवान इस मुश्किल परिस्थिति में फंसे लोगों के उद्धारक साबित हो रहे हैं। इसको दर्शाती बाढ़ प्रभावित कई क्षेत्रों से तस्वीरें आ रही हैं। ऐसी एक तस्वीर महाराष्ट्र के कोल्हापुर जिले से आई है। लेकिन ये तस्वीर थोड़ी सी अलग है। इस तस्वीर में महिलाओं को सेना के जवानों की कलाई पर राखी बांधते हुए देखा जा सकता है। बाढ़ से उन्हें जब इन जवानों ने बचाया तो महिलाओं ने अपने रक्षक के तौर पर उनकी कलाई में राखी बांधी।

बाढ़ के पानी से घिरे और दैनिक आपूर्ति में कमी के कारण, राजापुर गाँव की कुछ महिलाओं ने सुरक्षा कर्मियों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए उन्हें राखी बाँधी।

महाराष्ट्र इन दिनों भी’षण बाढ़ की च’पेट में है। राज्य में अब तक बाढ़ की च’पेट में आकर 30 लोगों की मौ’त हो चुकी है। हालात इतने बिगड़ गए हैं कि जो जहां था वहीं फं’सा हुआ है। लोगों को इस स्थिति से निकालने के लिए राज्य सरकार ने एनडीआरएफ की 15 टीमों को तैनात किया है। जो लोगों की लगातार मदद कर रहे हैं। ऐसे में जब शनिवार को एनडीआरएफ के जवानों ने बाढ़ में फं’सी चार गर्भवती महिलाओं को बचाया तो उन्हें महिलाओं ने तो शुक्रिया कहा ही साथ ही लोगों ने भी उनकी तारीफ की।

राज्य में बिगड़ते हाताल को देखते हुए सूबे के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने शनिवार को बा’ढ़ प्रभावित कोल्हापुर और सांगली का दौरा किया। उन्होंने बा’ढ़ प्रभावित क्षेत्रों में स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने बा’ढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवम् बचाव कार्यों का जायजा लिया। इससे पहले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जानकारी दी गई थी कि विशाखापत्तनम से भारतीय नौसेना की अतिरिक्त 15 टीमें आज बाढ़ रा’हत एवम् ब’चाव प्रयासों में सहायता करने के लिए कोल्हापुर पहुंची हैं।