समाजसेवी रेहाना फातिमा गिरफ्तार, अयप्पा भक्तों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप

NEW DELHI: Sabarimala mandir में महिलाओं के प्रवेश को लेकर लोगों का विरोध प्रदर्शन अभी तक जारी हैं। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी अभी तक किसी भी महिलाओं को अंदर प्रवेश करने नहीं दिया गया हैं। कई महिलाओं ने मंदिर के अंदर प्रवेश करने की कोशिश की लेकिन विरोध प्रदर्शन के कारण उन्हें रास्ते से वापस ही लौटना पड़ा, इन महिलाओं में से एक हैं समाजसेवी रेहाना फातिमा। खबर सामने आ रही हैं कि रेहाना फातिमा को कोची पुलिस ने उनके घर से गिरफ्तार कर किया हैं।

Rehana Fathima

रेहाना फातिमा पर आरोप है कि उन्‍होंने फेसबुक पोस्‍ट के जरिए अयप्‍पा भक्‍तों की भावनाओं को नुकसान पहुंचाया था। इस संबंध में कोच्‍चि के पथानामथिट्टा थाने में शिकायत दर्ज की गई थी। पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए रेहाना फातिमा को उनके घर से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। रेहाना को 295 ए के तहत गिरफ्तार किया गया है। आपको बता दें कि 28 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट ने ऐताहासिक फैसला सुनाते हुए 10-50 वर्ष की महिलाओं को मंदिर में प्रवेश की इजाजत दी थी, जिसके खिलाफ हिंदू समूहों ने प्रदर्शन किए।

सुप्रीम कोर्ट ने 13 नवंबर को सितंबर में दिए अपने आदेश पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था। राज्य में सीपीएम की अगुवाई वाली वाम मोर्चे की सरकार शीर्ष अदालत के इस निर्णय को लागू करवाने की कोशिश कर रही है, लेकिन कांग्रेस, भारतीय जनता पार्टी और कई हिंदू संगठन इस फैसले का विरोध कर रहे हैं।

आपको बता दें कि हाल ही में मंदिर के सामने प्रदर्शन करने वाले 72 श्रद्धालुओं को जमानत के बाद रिहा कर दिया गया। आपको बता दें कि पिछले साल इसी सत्र के दौरान, मंदिर के गर्भगृह की ओर जाने वाला फ्लाइओवर श्रद्धालुओं से भरा रहता था। इस सप्ताह अधिकतर समय यह खाली रहा। बात अगर आंकड़ों की करे तो 26 नवंबर की शाम तक करीब 50,000 श्रद्धालुओं ने पवित्र पहाड़ियों की चढ़ाई कर पूजा-अर्चना की। आधार शिविरों, पम्बा और निलक्कल में सुबह से भारी भीड़ दिखाई दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *