सिंधी हिंदू लड़की के ह’त्या मामले में न्याय के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय से मदद की गुहार

New Delhi: विश्व सिंधी कांग्रेस के सेक्यूरिटी जनरल, लखू लुहाना ने पाकिस्तान में सिंध की हिंदू लड़की नम्रता चंदानी की कथित ह’त्या पर अपनी चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर जहग-जगह वि’रोध प्र’दर्शन हो रहे हैं। लेकिन हम मानते हैं कि जब तक अंतरराष्ट्रीय समुदाय हमारा समर्थन नहीं करता, तब तक हम सिर्फ आवाज ही उठा सकते हैं।

उन्होंने निराशा जताते हुए कहा कि इस फासीवादी शासन के खिलाफ लड़ने के लिए हमें अंतरराष्ट्रीय मदद की जरूरत है। हम इसके खिलाफ आवाज बुलंद करने के लिए बस एक मौके की तलाश में हैं। लरकाना में अपने हॉस्टल में सिंधी हिंदू लड़की नम्रता चंदानी मृ’त पाई गई थी।

नम्रता बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी (बीडीएस) की फाइनल ईयर की छात्रा थी। अपने कमरे में चारपाई पर गले के चारों ओर से रस्सी से लिपटी हुए पाई गई थी। इस बारे में पुलिस का कहना है कि यह आत्मह’त्या है या ह’त्या, यह कहना जल्दबाजी होगी।

उसके परिवार ने दावा किया है कि उसकी ह’त्या की गई है। मृ’तिका के भाई डॉ विशाल सुंदर ने अपनी बहन की इस हालात पर मदद की गुहार लगाई है। उन्होंने कहा कि उसके शरीर के दूसरे हिस्सों पर भी निशान थे जैसे किसी ने उसे पकड़ रखा हो। वहीं जब इस मामले में हॉस्टल प्रशासन से पूछताछ की गई तो बताया गया कि नम्रता ने कॉल्स और दरवाजा खटखटाने का जवाब नहीं दिया।

इसके बाद चौकीदार को बुलाया गया और फिर उसने दरवाजा तोड़ा तब जाकर उसके मृ’त होने का पता चला। इस मामले की जांच के लिए एक कमेटी भी ​गठित कर दी गई है। कराची में इस घटना को लेकर चारों ओर वि’रोध-प्र’दर्शन जारी है। लोग अल्पसंख्यकों पर हो रहे अ’त्याचारों के वि’रोध में ना’रे लगा रहे हैं।