एक मंदिर जिसमें देवी के रुप में विराजमान हैं सोनिया गांधी

NEW DELHI: अभी तक आप  देवी-देवताओं के मंदिरों के बारे  में सुनते आए हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि भारत में एक ऐसा भी मंदिर है जो किसी देवी या देवता को नहीं बल्कि  नेत्री को समर्पित है । जी हां ऐसा ही एक मंदिर है जो वर्तमान यूपीए अध्यक्ष सोनिया  गांधी को समर्पित  है। आइए जानते हैं कि यह मंदिर कब बना और इस मंदिर को बनाने के पीछे  उद्देश्य क्या था ? दरअसल 2014 में जब आंध्रप्रदेश राज्य को विभाजित करके तेलांगना राज्य की स्थापना हुई तो इसमें ALL INDIA CONGRESS COMMITTEE की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने  काफी महत्वपूर्ण भूमिका अदा की थी । इसके कारण  राज्य में निवास करने वाले कांग्रेस समर्थकों को काफी प्रसन्नता हुई थी । उन्होनें सोनिया गांधी के  इस योगदान के प्रति आभार जताने के उद्देश्य से आंध्रप्रदेश के शहर मलीअल (Mallial) में उनकी मंदिर स्थापित की ।

इसे भी पढ़ें – एक ऐसा मंदिर जहां विराजमान हैं गोबर के गणेश

इस मंदिर के अंदर सोनिया गांधी की सफेद संगमरमर से बनी मूर्ति स्थापित की गई है । वहीं मंदिर की बाहरी दिवारों पर देश के  पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी , पूर्व प्रधानमंत्री राजीव  गांधी और राहुल गांधी की तस्वीर बनाई गई  है । यही नहीं  जो नेता और आम लोग  तेलांगना के अलग राज्य बनने का विरोध कर रहे थे, उन्होनें आंध्रप्रदेश राज्य में सोनिया गांधी की गुम्बद तैयार करवाए हैं। सोनिया गांधी की मूर्ति हिन्दू देवियों जैसी है । इस मूर्ति में सोनिया एक हाथ में कमल ली हुई हैं तो  दूसरी हाथ में धन से भरी प्लेट थामे हुई हैं ।  सोनिया गांधी की इस मूर्ति की लम्बाई 9 फिट है ।इस मंदिर का उद्घाटन 2014 के अंत में किया गया था ।

इसे जरुर पढ़े-

1. देश के बारह ज्योतिर्लिंगों में शामिल है बाबाधाम, सावन में उमड़ती है भक्तों की भीड़

2.एक ऐसा मंदिर जहां चढ़ावे के रुप में चढ़ाये जाते हैं चप्पल