जब यमन में रे’पिस्ट को बीच चौराहे पर लि’टाकर गो’लियों से भू’ना..देखकर कां’प जाए अप’राधियों की रुह

New Delhi : हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हुए गैंगरे’प और ह’त्या के मामले के बाद एक बार फिर पूरा देश उ’बल पड़ा है। लोग सवाल पूछ रहे हैं पहले निर्भया फिर गुडिया फिर कठुआ और अब हैदराबाद, आखिर कब तक देश की बेटियां द’रिंदों का शि’कार होंगी।

आज हम आपको एक ऐसे मामले के बारे में बता रहे हैं जहां रे’पिस्ट को ऐसी स’जा दी गई कि देखकर अप’राधियों की रुह भी कां’प उठे।

2017 में यमन में 4 वर्षीय बच्ची का बला’त्का’र करने के बाद उसकी ह’त्या करने के दोषी व्यक्ति 22 वर्षीय हुसैन अल-साकेत को सैकड़ों लोगों के सामने तहरीर चौक पर लि’टा’कर गो’ली से भू’न दि’या गया।

दो’षी को स’जा देने वाले न्यायाधीश रजेह एज्जेदीन ने कहा कि हुसैन पर चार साल की बच्ची के अपह’रण, बला’त्कार और ह’त्या का आ’रोप था। उन्होंने कहा कि ऐसी सार्वजनिक जगह पर ऐसी स’जा देने से अपरा’धियों के ड’र पैदा होगा और वह आगे से ऐसा करने से पहले हजार बार सोंचेगे।

इस खौ’फनाक स’जा की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई जिसमें देखा जा सकता है कि एक पुलिसवाले ने आ’रोपी के दिल को नि’शाना बनाते हुए पीछे की तरफ से पांच गो’लियां मा’रीं इसके बाद उसकी मौके पर ही मौ’त हो गई।

वहीं, महिला डॉक्टर की दु’ष्क’र्म के बाद ह’त्या से देशभर में आ’क्रोश है। शनिवार को हैदराबाद के शादनगर थाने के बाहर लोगों ने प्रदर्शन किया।

लोगों ने आरो’पियों को बिना किसी सुनवाई के फां’सी पर च’ढ़ाने या उनका एनका’उंटर करने की मांग की। इस बीच, स्थानीय बार एसोसिएशन ने आरो’पियों की पैरवी से इनकार कर दिया।

महिला डॉक्टर से दरिं’दगी का मामला शुक्रवार को देशभर में सुर्खियों में आया। इसके बाद साइबराबाद पुलिस ने चार आरो’पियों, मोहम्मद अरीफ, जोलू शिवा, जोलू नवीन और चिंताकुंटा चेन्नाकेशवुलु को गिर’फ्तार किया।

आरिफ की उम्र 26 साल है, जबकि बाकी आरो’पियों की उम्र 20 साल है। सभी की गिर’फ्तारी नारायणपेट जिले से हुई। ये सभी ट्रक ड्राइवर और क्लीनर हैं, जिन्होंने श’राब पीने के बाद 7 घंटे तक डॉक्टर के साथ दरिं’दगी की थी।

शादनगर के स्थानीय कोर्ट से संबंधित बार एसोसिएशन ने घ’टना के चारों आरो’पियों का केस ल’ड़ने से इनकार कर दिया है। बार एसोशिएसन ने कहा- कोई भी वकील अदालत में चारों आरो’पियों की पैरवी करने नहीं जाएगा और उन्हें कानूनी सहायता भी उपलब्ध नहीं कराई जाएगी। दु’ष्कर्म और ह’त्या के आरो’पियों को महबूबनगर के फास्ट ट्रैक कोर्ट में पेश किया गया।