वसीम खान पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के नए मैनेजिंग डायरेक्टर नियुक्त किये गए

New Delhi: पाकिस्तानी क्रिकेट बोर्ड के मैनेजिंग डायरेक्टर मोहसीन खान ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उनकी जगह वसीम खान अब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के नए मैनेजिंग डायरेक्टर नियुक्त किये गए हैं।

वसीम खान पिछले तीन सालों से पकिस्तान क्रिकेट टीम के प्रदर्शन को रिव्यू करने का काम कर रहे थे। और इस वर्ल्ड कप में उन्होंने पाकिस्तानी टीम के प्रदर्शन की रिपोर्ट पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के चेयरमैन एहसान मनी को सौपीं थी।

PCB ने इस मामले में कहा है की पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के चेयरमैन एहसान मनी के साथ की गयी हालिया मुलाक़ात में मोहसीन खान ने अपने पद से हटने की इक्षा जाहिर की थी।

मोहसिन खान ने इस पूरे मामले पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा की “मैं पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के चेयरमैन एहसान मनी का शुक्रगुजार हूँ जो उन्होंने मुझे पाकिस्तान क्रिकेट कमिटी का संचालन करने का मौक़ा दिया। भविष्य में भी मैं अपनी सेवाएं इस संस्था को देने का प्रयास करूंगा।

इस बारे में एहसान मनी ने कहा कि मोहसिन खान जैसे किसी साथी का इस्तीफ़ा स्वीकार करना हमेशा ही एक कठिन निर्णय होता है। लेकिन हम उनके इस फैसले का सम्मान करते हैं। हम उनके द्वारा किये गए कार्यों और सेवाओं के लिए हमेशा उनके शुक्रगुजार रहेगें।

पाकिस्तानी टीम के हालिया प्रदर्शन और इस वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में उनके लचर प्रदर्शन को देखते हुए,काफी लम्बे समय से पुरे पाकिस्तानी क्रिकेट बोर्ड में सुधार की मांग की जा रही थी। लेकिन 16 जून को इंडिया के खिलाफ बुरी तरह से हारने के बाद से इस मांग ने जोर पकड़ना शुरू कर दिया था। बोर्ड के अंदर मैनेजमेंट को लेकर अधिकारियों में आपसी खींचतान चल रही थी।

ऐसा माना जा रहा था कि इंडिया के खिलाफ मैच हारने की वजह से पाकिस्तानी क्रिकेट बोर्ड में बड़े पैमाने पर बदलाव किये जायेगें। टीम के नियमित कोच मिकी आर्थर को हटाने की भी बात की जा रही है। पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के हेड कोच मिकी आर्थर से लोग खासे नाराज चल रहे हैं।

पूर्व पाकिस्तानी तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने तो यहाँ तक कह दिया था कि,कोच मिकी आर्थर ज्यादातर समय अंग्रेजी में बात करते हैं,जो कि ना ही कप्तान सरफराज को समझ आती है और ना ही खिलाड़ियों को। शोएब ने भारतीय कोच रवि शास्त्री का उदाहरण देते हुए कहा कि रवी ने भारतीय टीम को एक नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया है। टीम के बल्लेबाजी कोच ग्रांट फ्लावर पर भी सवाल खड़े किये जा रहे हैं। आमिर सोहेल का कहना है कि क्या पाकिस्तान का कोई पूर्व बल्लेबाज टीम का बैटिंग कोच बनने की काबिलियत नहीं रखता है। अजहर महमूद जो कि टीम के गेंदबाजी कोच हैं वे भी ज्यादातर समय इंग्लैंड में ही रहते हैं और कई T-20 लीग में खलते हैं। टीम के लिए उनका योगदान ना के बराबर ही है।