अंपायर के गलत फैसले से बैट्समैन को पड़ा दिल का दौरा, ड्रेसिंग रूम में हुई मौत

New Delhi : ऐसा पहली बार नहीं है कि क्रिकेट के मैदान पर दिल का दौरा पड़ने से किसी क्रिकेटर की मौत हुई हो, लेकिन हैदराबाद में इस क्रिकेटर के साथ जो हुआ वह वाकई चौंकाने वाला है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रविवार को एक वन-डे लीग मैच के दौरान 41 साल के बल्लेबाज वीरेंद्र नाइक की मौत हो गई। रिपोर्ट के मुताबिक वीरेंद्र नाइक ने रविवार को हुए मुकाबले में 66 रन की बेहतरीन पारी खेली थी, लेकिन अंपायर के एक गलत फैसले की वजह से वह आउट हो गए। वीरेंद्र जैसे ही पवेलियन पहुंचे उनका सिर दीवार से टकराया और वो नीचे गिर गए, इसके बाद उनके साथी खिलाड़ी उन्हें कार में अस्पताल में ले गए जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

41 वर्षीय वीरेंद्र की पत्नी होममेकर हैं, जबकि उनका एक आठ साल का बेटा है और पांच साल की बेटी है। वीरेंद्र मेहदीपटनम के गुडीमल्कापुर में के रहने वाले थे। सोमवार को गांधी हॉस्पिटल में पोस्टमार्टम के बाद उनके शव को परिवार को सौंप दिया जाएगा। अभी तक ऐसा माना जा रहा है कि उनका निधन हार्ट अटैक से हुआ है। उनके भाई अविनाश ने पुलिस को बताया है कि वो छाती की बीमारी की दवाइयां ले रहे थे। इसमें कोई साजिश नहीं है। वीरेंद्र की टीम ने पहले बल्लेबाजी की थी और अच्छा प्रदर्शन भी कर रही थी।

66 रन बनाकर वीरेंद्र को अंपायर ने कॉट बिहाइंड आउट दिया। वीरेंद्र का मानना था कि अंपायर का फैसला गलत था। कप्तान त्रिप्त सिंह ने इसकी जानकारी दी। जिसके बाद वो पवेलियन लौटे और वहीं गिर पड़े। वीरेंद्र ने पवेलियन में जाने के बाद अपना सिर भी दीवार में मारा था।