‘भीम आर्मी’ का बयान, ‘राम मंदिर’ की जगह अगर बने विद्यापीठ, तो देंगे पूरा समर्थन

NEW DELHI: Ayodhya में shiv sena प्रमुख uddhav thackeray के कार्यक्रम पहले ही माहौल गरमा दिया है। इस कड़ी में शिव सेना चीफ उद्धव ठाकरे भी अयोध्या पहुंच चुके हैं।  राम मंदिर को लेकर राजनीति दलों के नेताओं के तमाम बयान सामने आ रहे हैं। इस कड़ी में भीम आर्मी के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनय रतन सिंह का भी बयान सामने आया। विनय रतन सिंह ने कहा कि अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर का हम समर्थन नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि वहां राम मंदिर की जगह अयोध्या में विद्यापीठ बननी चाहिए।

इसके अलावा, हिन्दू होने की बात पर हंसते हुए विनय रतन सिंह ने कहा कि हम हिन्दू नहीं… भारतीय हैं। वहीं बहुजन समाजवादी पार्टी BSP सुप्रीमो Mayawati का भी बयान सामने आया। मायावती ने कहा कि बीजेपी अपनी नाकामी छिपाने के लिए राम मंदिर के निर्माण का मुद्दा उठाया हैं। मायावती ने कहा कि अगर बीजेपी की नीयत मंदिर बनाने की होती तो वह 5 के अंदर मंदिर का निर्माण करा सकती थी, लेकिन बीजेपी ने ऐसा नहीं किया और राम मंदिर के नाम पर वोट जुटाने में लगी हुई हैं।

Vinay Ratan

 

आपको बता दें कि लखनऊ में मीडिया से करते हुए भीम आर्मी संगठन पर मायावती ने जमकर वार किया। मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भीम आर्मी जैसे संगठन भोले भाले लोगों को काफी बहका रहे हैं। ऐसे संगठन बीएसपी के बढ़ते मूमेंट पर बड़ा रोड़ा हैं। उन्होंने कहा कि बसपा के कार्यकर्ता हमारे अन्य सभी विरोधियों से बेहद सावधान रहें। अब लोकसभा चुनाव बेहद करीब हैं, इसी कारण से भीम आर्मी जैसे कुछ और संगठन बीएसपी के करीब आने के प्रयास में लगे हैं, जिससे कि इनको बड़ा लाभ मिल सके।

आपको बता दें कि मुजफ्फरनगर के साथ ही बागपत और शामली में आयोजित कार्यक्रम में भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर ने बीएसपी की मुखिया मायावती को प्रधानमंत्री के रूप में समर्थन देने की बात कही थी। मायावती ने इस बयान को चुनावी साजिश करार देते हुए भीम आर्मी को बीएसपी का विरोधी बताया।