चार साल से फरार विजय माल्या कभी भी मुम्बई लैंड कर सकता है, आर्थर रोड जेल सजधज कर तैयार

New Delhi : चार साल से फरार कारोबारी विजय माल्या कभी भी भारत पहुंच सकता है। मुंबई में उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज है, इसलिए उसे मुंबई ही लाया जाएगा। जांच एजेंसियों के कुछ सूत्रों ने संकेत दिए कि माल्या का विमान बुधवार रात को मुंबई हवाई अड्डे पर उतर सकता है। अगर वह रात में मुंबई पहुंचा तो उसे कुछ देर सीबीआई ऑफिस में रखा जाएगा। बाद में उसे कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा।
दरअसल, यूके कोर्ट ने 14 मई को माल्या के भारत प्रत्यर्पण पर आखिरी मुहर लगाई थी। नियम के अनुसार, भारत सरकार को माल्या को उस तारीख से 28 दिन के अंदर यूके से ले आना है। ऐसे में 20 दिन गुजर चुके हैं। उधर, प्रत्यर्पण की सारी कानूनी प्रक्रिया भी पूरी हो चुकी है। ऐसे में माल्या को कभी भी भारत लाया जा सकता है।

 

बहरहाल, माल्या के मुंबई पहुंचते ही मेडिकल टीम उसकी सेहत की जांच करेगी। सूत्रों ने बताया कि सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (एन्फोर्मसमेंट डायरेक्टरेट यानी ईडी) के कुछ अधिकारी विमान पर माल्या के साथ होंगे। अगर माल्या दिन में भारत पहुंचेगा तो उसे एयरपोर्ट से सीधे कोर्ट ले जाया जाएगा। सूत्रों ने बताया कि कोर्ट में सीबीआई और ईडी, दोनों एजेंसियां उसकी रिमांड की मांग करेंगी।
ध्यान रहे कि यूके की अदालत ने अगस्त 2018 में माल्या की याचिका पर सुनवाई करते हुए भारतीय जांच एजेंसियों से उस जेल का विस्तृत ब्योरा मांगा था जहां प्रत्यर्पण के बाद माल्या को रखा जाएगा। तब एजेंसियों ने मुंबई स्थित ऑर्थर रोड जेल की एक सेल का वीडियो यूके कोर्ट को सौंपा था जहां माल्या को भारत लाए जाने पर रखने जाने की योजना है। एजेंसियों ने तब यूके कोर्ट को आश्वस्त किया था कि माल्या को दो मंजिला ऑर्थर रोड जेल परसिर के अंदर बेहद सुरक्षित बैरक में रखा जाएगा।
ऑर्थर रोड जेल में अंडरवर्ल्ड से जुड़े कई कुख्यात अपराधियों, मसलन अबू सलेम, छोटा राजन, मुस्तफा दोसा को रखा गया। 26/11 मुंबई हमलों को अंजाम देने वाले पाकिस्तानी आतंकवादी अजमल कसाब को भी बेहद कड़ी सुरक्षा में इसी जेल में रखा गया था। वहीं, शीन बोरा मर्डर केस के आरोपी पीटर मुखर्जी और पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) को 13,500 करोड़ रुपये का चूना लगाने वाला विपुल अंबानी भी इस जेल की हवा खा चुका है।

बंद पड़े किंगफिशर एयरलाइंस के मालिक विजय माल्या पर देश के 17 बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपये बकाया है। वह 2 मार्च, 2016 को भारत छोड़कर ब्रिटेन भाग गया था। भारतीय एजेंसियों ने यूके की कोर्ट से माल्या के प्रत्यर्पण की अपील की और लंबी लड़ाई के बाद यूके की अदालत ने 14 मई को माल्या के भारत प्रत्यर्पण की अपील पर मुहर लगा दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

six + two =