मनोहर परिकर के बेटे उत्पल ने शरद पवार को लिखा लेटर, कहा- राजनीतिक फायदे के लिए झूठ न बोलें

New Delhi: Sharad pawar के बयान के बाद गोवा के पूर्व सीएम Manohar Parrikar के बेटे उत्पल पर्रिकर ने एक लेटर लिखा है। उत्पल पर्रिकर ने शरद पवार को लेटर में लिखा है कि- राजनीतिक लाभ के लिए मेरे पिता के नाम पर बोला गया एक झूठा और दुर्भाग्यपूर्ण प्रयास है। आपसे रिक्वेस्ट है कि ऐसा व्यवहार न करें।

लेटर में उल्पल ने लिखा है कि- इस बयान से पूरे परिवार को दुख पहुंचा है, कृपया ऐसा ना करें। उत्पल ने पत्र में लिखा है कि राजनीतिक लाभ के लिए ना करें पिता के नाम का इस्तेमाल। दरअसल, फ्रांस के साथ हुए राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर चल रही राजनीतिक बयानबाजी के बीच एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने दावा कर मनोहर परिकर पर आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर परिकर केंद्र सरकार में अपना पद छोड़कर गोवा इसलिए लौट गए थे, क्योंकि वह राफेल विमान सौदे से सहमत नहीं थे।

इसी मामले पर उत्पल ने शरद पवार को नसीहद दे डाली। उल्पल ने कहा कि- मेरे पिता के नाम का इस्तेमाल किया जा रहा है। 2014 को रक्षा मंत्री पद संभालने वाले परिकर 2017 में दोबारा गोवा लौटे थे और 14 मार्च को चौथी बार गोवा के मुख्यमंत्री पद पर शपथ ली थी। करीब एक साल तक पेंक्रियाज कैंसर से लड़ने के बाद परिकर का इस साल 17 मार्च को उन्होंने दुनिया से अलविदा कह दिया।

एक तरफ अरबों का सरकारी विज्ञापन,दूसरी ओर किसान का ये खत, चमकता झूठ और दर्दनाक सच आपके सामने है

वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी दावा किया था कि पर्रिकर ने उनसे मुलाकात के दौरान कहा था कि राफेल डील के बारे में उन्हें किसी भी तरह की कोई जानकारी नहीं है।  वह उस प्रक्रिया में शामिल नहीं किए गए थे। हालांकि, दूसरे ही दिन पर्रिकर ने एक लेटर लिखकर इस बयान को पूरी तरह से खारिज कर दिया था।  उन्होंने राहुल गांधी के खिलाफ लिखा था कि- एक बीमार शख्स से मिलकर राजनीति फायदा उठाने की कोशिश की गई।