डोनाल्ड ट्रम्प ने दिया पीएम मोदी को बड़ा झटका, भारत से कर-मुक्त व्यापार का छीना दर्जा

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री के अमेरिका के साथ द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा देने की कोशिशों में बड़ा झटका लगा है। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भारत सहित तुर्की के साथ तरजीही व्यापार को ख़त्म कर दिया है। परिणामस्वरूप अब भारत को आयात व निर्यात में भारी अमरीकी टैक्स स्लैब से गुज़रना होगा।

संयुक्त राज्य अमेरिका के व्यापार प्रतिनिधि रॉबर्ट लाइटहाइज़र ने मंगलवार को घोषणा की कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के निर्देश पर अमेरिका, भारत और तुर्की लाभकारी विकासशील देशों को सामान्यीकृत तरजीही प्रणाली के तहत वरीयता प्राप्त (GSP) कार्यक्रम को समाप्त करना चाहता है।

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी ने ट्रम्प के हवाले से कहा कि उन्होंने निर्धारित किया था कि नई दिल्ली ने अमेरिका को आश्वासन नहीं दिया था कि वह भारत के बाजारों में न्यायसंगत और उचित पहुंच प्रदान करेगा। ट्रम्प की ओर से जारी प्रेस रिलीज़ में उन्होंने कहा कि जीएसपी पात्रता मानदंड के अनुसार मैं यह आकलन करना जारी रखूंगा कि क्या भारत सरकार अपने बाजारों में समान और उचित पहुंच प्रदान कर रही है।

quaint media, quaint media archives

हाल ही में भारत ने अमेरिका के समक्ष मांग रखी थी कि कुछ इस्पात और एल्युमीनियम उत्पादों पर ऊंचे शुल्क से छूट दे और सामान्यीकृत तरजीही प्रणाली (जीएसपी) के तहत कुछ घरेलू सामान पर निर्यात लाभ को फिर से बहाल करे। इसके अलावा अमेरिका कृषि, वाहन, वाहन कलपुर्जा तथा इंजीनियरिंग क्षेत्र के उत्पादों को बेहतर बाजार पहुंच उपलब्ध कराए। वहीं दूसरी ओर अमेरिका कृषि उत्पादों, डेयरी उत्पादों, चिकित्सा उपकरणों, आईटी और संचार उत्पादों पर भारत से आयात शुल्क कटौती की मांग की थी।

बता दें कि सामान्यीकृत तरजीही प्रणाली (जीएसपी) विकासशील देशों को तरजीही शुल्क पर व्यापार करने के लिये विकसित देशों द्वारा शुरू किया गया प्रोग्राम है। साल 2017- 18 में भारत से अमेरिका को 47.9 अरब डालर का निर्यात किया गया जबकि आयात 26.7 अरब डालर रहा है। ट्रम्प ने जीएसपी कार्यक्रम सूची से भारत का नाम वापस लेने का फैसला किया है।

इनपुट – ANI