भारत आएंगे अमेरिकी विदेशमंत्री माइक पोम्पिओ : विदेश मंत्रालय

New Delhi : वर्तमान में भारत और अमेरिका के बीच चल रही अनबन के इतर अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ 25 जून से को भारत आ रहे है। मोदी सरकार के दोबारा सत्ता में आने के बाद यह पहली किसी बड़े देश के मंत्री की यात्रा होगी। इस दौरान माइक पोम्पिओ की मुलाकात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री (Minister) एस जयशंकर से भी होगी। अपनी इस यात्रा के दौरान माइक G 20 सम्मलेन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बीच होने जा रही मुलाकात के लिये ज़मीन भी तैयार करेंगे। दोनों देशों के बीच रक्षा,कारोबार ,और कूटनीतिक विषयो पर चर्चा होगी ।
गौरतलब है कि पिछले कुछ से समय भारत और अमेरिका के आर्थिक सम्बन्ध ठीक नहीं चल रहे है। हाल ही में अमेरिका ने भारत से जनरलाइज़्ड सिस्टम ऑफ़ प्रिफरेंस (जीएसपी ) दर्ज़ा वापस ले लिया है। ऐसे में इस दौरे का काफी महत्व बढ़ गया है।

भारत आने से पहले माइक पोम्पिओ ने हिंदुस्‍तान के साथ अपने देश के संबंधों को बेहद महत्वपूर्ण करार दिया है। उन्होंने कहा कि उनका आगामी दौरा भारत के साथ अमेरिका के महत्वपूर्ण संबंधों को और प्रगाढ़ करने पर केंद्रित होगा। यह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Trump) की उस अहम रणनीति का हिस्सा है जिसके तहत हिंद-प्रशांत क्षेत्र में स्वतंत्र आवाजाही के साझा लक्ष्य को मजबूत करना है। बुधवार को यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल के इंडिया आइडियाज समिट के दौरान माइक ने कहा ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने चुनाव प्रचार के दौरान नारा दिया ‘मोदी है तो मुमकिन है’ या ‘मोदी मेक्स इट पॉसिबल’, हम भी भारत और अमेरिका के बीच संबंध को आगे बढ़ते देख रहे हैं। पीएम मोदी को चुनावों में हाल में मिली जीत ने विश्‍व स्‍तर पर अहम भूमिका निभाने वाले सशक्त भारत के लिए अपने दृष्टिकोण को लागू करने के लिए अच्‍छा मौका दिया है।’ साथ ही उन्‍होंने बताया कि वह इस महीने के अंत में नई दिल्ली की यात्रा, पीएम मोदी और उनके नए विदेश मंत्री एस जयशंकर से मिलने को लेकर बेहद उत्सुक हैं।