अमेरिकी सीनेटर बोले- चीनी आक्रामकता के सामने भारत डटा है, भारत पर गर्व है, ये दूसरों को सबक

New Delhi : एक शीर्ष अमेरिकी सीनेटर ने सीमा विवाद में चीनी आक्रामकता के सामने खड़े रहने के लिये भारत सरकार की प्रशंसा की है। उन्होंने कहा- उम्मीद है कि यह अन्य देशों को चीन से निपटने में निडर होने का संकेत देगा। भारतीय और चीनी सेनाएं पिछले आठ हफ्तों से पूर्वी लद्दाख में आमने-सामने हैं। इसमें गलवन घाटी में हुए संघर्ष के बाद तनाव कई गुना बढ़ गया।

रिपब्लिकन सीनेटर जॉन कैनेडी ने गुरुवार को एक साक्षात्कार में फॉक्स न्यूज को बताया- मुझे इस बात पर बहुत गर्व है कि भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके (चीन) खिलाफ खड़े हैं। मुझे बहुत गर्व है कि कनाडा जो कर रहा है। हर देश नहीं भाग रहा और ना ही कोने में छिप रहा है।
उन्होंने कहा – संयुक्त राज्य अमेरिका और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को चीनी कम्युनिस्ट पार्टी को यह समझना होगा कि हम उनसे नियमों के तहत काम करने की अपेक्षा रखते हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका के अलावा, आप जानते हैं कि कितने अन्य देश चीन पर भरोसा करते हैं? कोई नहीं, शून्य। लेकिन वे डरे हुये हैं। चीन दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। चीन अन्य देशों को डराने के लिये अपने आर्थिक उत्तराधिकार का उपयोग करता है, और दुनिया के कई अन्य देश उनके लिए खड़े होने से डरते हैं। हालांकि, आस्ट्रेलिया उनके(चीन) खिलाफ खड़ा है। भारत उनके खिलाफ है। कनाडा उनके खिलाफ खड़ा है। हमें अपने सहयोगियों के साथ जुड़ने की जरूरत है, यूरोप तक सीमित नहीं होना और चीन से कहें, देखो, तुम नियम के तहत काम करें या हम आपके साथ व्यापार करने नहीं जा रहे हैं।
साक्षात्कार के दौरान, सीनेटर कैनेडी ने चीनी कम्युनिस्ट पार्टी पर हमला करते हुए कहा कि राष्ट्रपति शी जिनपिंग के नेतृत्व में चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ठगों के झुंड की तरह काम कर रही है। और (अमेरिका) राष्ट्रपति को इसे रोकने की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ninety seven − = 93