कुशवाहा नहीं होंगे NDA की मीटिंग में शामिल, पार्टी से अलग होने का कर सकते हैं ऐलान

New Delhi: पिछले कुछ दिनों से जिस तरह से उपेंद्र कुशवाहा बीजेपी से नाराज चल रहे है, उसके माना जा सकता हैं कि कुशवाहा बीजेपी एनडीए से अलग हो सकते हैं। खबरों के मुताबिक, कुशवाहा ने अब एनडीए छोड़ने का मन बना लिया है। जिसके चलते वह दिल्ली में होने वाली एनडीए की बैठक में शामिल नहीं होंगे। सूत्रों की मानें तो कुशवाहा ने न केवल इस मीटिंग से दूरी बनाई है बल्कि दोपहर के बाद प्रेस वार्त कर एनडीए को छोड़ने और मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने की घोषणा भी कर सकते हैं।

उपेंद्र कुशवाहा पिछले दिनों एनडीए से वजूद की लड़ाई लड़ रहे हैं। एनडीए का साछ छोड़ने के बाद कुशवाहा किसके पाले में बैठने वाले हैं ये तय नही है, लेकिन माना जा रहा हैंकि वो महागठबंधन का ही हिस्सा बनेंगे। इससे पहले नीतिश कुमार बीजेपी पर हमला बोलकर कुशवाहा ने काफी हद साफ कर दिया था कि वह एनडीए से नाता तोड़ने के मूड में है, लेकिन उन्होंने काफी दिनों तक एनडीए में बने रहने का फैसला लिया।

upendra kushwaha

इस पर जहानाबाद से बागी आरएलएसपी सांसद अरूण कुमार ने कहा कि लोकसभा चुनाव में वह बीजेपी का समर्थन करेंगे। उन्होंने कहा कि मैनें कुशवाहा जी से अपने रास्ते अलग कर लिए हैं और अब मेरा गुट अलग हैं। मुझे एनडीए की ओर से बैठक में शामिल होने के लिए न्योता नहीं दिया गया हैं, लेकिन एनडीए छोड़ने की मेरी कोई योजना नहीं हैं। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता कि आखिर क्यों बीजेपी नीतीश कुमार की गुलाम बन रही हैं, मैं आरएलएसपी के सम्मान को बचाने की अपनी लड़ाई को जारी रंखूगा, जिससे कि इस बार ज्यादा सीट हासिल हो।

आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा के एनडीए छोड़ने के फैसले का उनकी पार्टी के सांसद राम कुमार शर्मा ने भी विरोध किया है। लेकिन उन्होंने कहा कि वह कुशवाहा के हर फैसले में उनके साथ रहेंगे। सूत्रों की मानें तो वह बीजेपी के संपर्क में हैं। वहीं पार्टी के दोनों विधायक लल्लन पासवान और सुधांशु शेखर भी जदयू के संपर्क में हैं। खुद कुशवाहा एलजेडी नेता शरद यादव के साथ संपर्क में हैं और पार्टी के विलय पर चर्चा कर रहे हैं। आपको बता दें कि एनडीए की आज होने वाली बैठक शाम को 4 बजे होगी, लेकिन अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि इसमे जदयू शामिल होगी या नहीं।