भाई की मौ’त के बाद भी UP पुलिस की CO अर्चना सिंह ने पूरी की ड्यूटी, निभाया वर्दी का फर्ज

New Delhi : कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने यूपी पुलिस पर अभ’द्रता का आ’रोप लगाया है, जबकि पुलिस ने इस तरह के आ’रोपों को नकारते हुए इसे गलत करार दिया है। प्रियंका गांधी ने लखनऊ में एक महिला पुलिसकर्मी पर गला द’बाने और धक्का-मुक्की का आ’रोप लगाया है।

इन आ’रोपों से आहत पुलिस अधिकारी अर्चना सिंह ने पूरे मामले की सच्चाई बताई है। अर्चना सिंह ने कहा कि प्रियंका गांधी के साथ किसी भी तरह की धक्कामुक्की और अभद्रता नहीं हुई है। वह सिर्फ ड्यूटी कर रही थीं।

सीओ डॉ अर्चना सिंह ने बताया कि जिस वक्त वह प्रियंका गांधी की सुरक्षा में ड्यूटी पर तैनात थीं, उसी दौरान उन्हें उनके भाई के निधन की खबर मिली। बावजूद इसके उन्होंने अपनी भावना को रोकते हुए फर्ज को अहमियत दी और मुस्तैदी से अपनी ड्यूटी निभाई। अर्चना सिंह अपने ऊपर लगे इन आ’रोपों से आहत हैं।

अर्चना सिंह को भाई के मौ’त की खबर मिली, लेकिन उन्होंने अन्य किसी को इस बात की सूचना नहीं दी और वह प्रियंका गांधी की सुरक्षा की ड्यूटी में लगी रहीं। ड्यूटी पूरी करने के बाद उन्होंने एसएसपी को इस बात की जानकारी दी। डॉ अर्चना मॉर्डन कंट्रोल रूम में सीओ हैं। उनके चचेरे भाई को पीलिया हो गया था। दिल्ली के एक अस्पताल में उसका निधन हो गया था।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पुलिस पर शनिवार को गम्भीर आरोप लगाया कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ हाल में हुई हिं’सा के मामले में गिरफ्तार किये गये पूर्व आईपीएस अफसर के घर जाते वक्त उन्हें रोकने की कोशिश कर रही पुलिस ने उनका गला दबाकर उन्हें गिराया।