UP के DGP ने कहा-हिं’सा में हमने प’त्थर खाए हमारे जवानों पर पेट्रोल ब’म फेकें गए

New Delhi : उत्तर प्रदेश पुलिस पर लग रहे आरोपों पर डीजीपी ओपी सिंह ने सफाई दी है। उन्होंने कहा कि हिं’सा के दौरान हमने प’त्थर खाए। हमारे 263 पुलिसकर्मी घा’यल हैं। कानपुर में हमारे जवान पर पेट्रोल ब’म फेंका गया, जिसमें उसका सिर फ’ट गया है।

जो भी आ’रोप लग रहे हैं, उसकी जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। स्थानीय प्रशासन को मिल रही शिका’यतों को गंभीरता से लिया जा रहा है। निर्दोष लोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होगी। दो’षी बख्शे नहीं जाएंगे।

वहीं, नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शनों के मद्देनजर उत्तर प्रदेश और दिल्ली में पुलिस-प्रशासन मुस्तैद है। पिछले शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद यूपी के 22 जिलों में प्रदर्शन के दौरान हिं’सा की घ’टनाएं सामने आई थीं। आज कोई अप्रिय घ’टना न हो इसके लिए संवेदशनशील इलाकों में पुलिस अलर्ट पर है। यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि कानून और व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। शुक्रवार को 21 जिलों में इंटरनेट सेवा बंद की गई है।

बीते शुक्रवार को मेरठ, वाराणसी, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, संभल, फिरोजाबाद, कानपुर और रामपुर समेत अन्य जिलों में हिं’सा के दौरान 19 लोगों की जान गई थी। इसके बाद से लगातार प्रदेशभर के डीएम और एसएसपी ने हिंसा के बाद शांति समितियों की बैठक में लोगों को नागरिकता कानून के बारे में जागरुक किया। कानपुर, मेरठ में स्थानीय लोग वाॅलंटियर के रूप में मस्जिदों और संवेदनशील इलाकों में तैनात हैं।