UP:बस में पति की मौ’त होने पर कंडक्टर ने बीच रास्ते में श’व के साथ पत्नी को उतारा

New Delhi : उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले से एक असंवेदनशील कृत्य को दर्शाने वाली घटना सामने आई है। यहां यूपी रोडवेज़ के एक बस कंडक्टर की संवेदनहीनता सामने आई है। बस में एक महिला अपने पति के साथ सफर कर रही थी उसका पति बीमार था। जब उसके पति का नि’धन हो गया तो बस कंडक्टर ने महिला से तुरंत उतर जाने के लिए कहा ।कंडक्टर और ड्राइवर ने बीच रास्ते में ही महिला को उसके मृ’त पति के साथ उतार दिया और फरार हो गए। इतना ही नहीं कंडक्टर ने महिला से उसकी टिकट भी छीन ली।

मा’मला बाराबंकी जनपद के रामनगर चौराहे का है। परिवहन विभाग की बहराइच डिपो की बस (यूपी 40- टी -5510) में बुधवार की सुबह एक महिला अपने पति के साथ लखनऊ जाने के लिए सवार हुई। दोनों लखनऊ में कैंसर से पीड़ित अपने एक रिश्तेदार का हाल जानने के लिए जा रहे थे। लेकिन रास्ते में युवक की मौत हो गई। जब इसकी जानकारी बस के चालक व परिचालक को हुई तो उन्होंने रमनगर चौराहे पर बस रोक दी और शव के साथ महिला को उतार दिया।

दंपति अपने कैंसर प्रभावित रिश्तेदारों से मिलने के लिए बहराइच से लखनऊ जा रहे थे जब आदमी की तबीयत खराब हुई और उसकी मौत हो गई। बाराबंकी के रामनगर क्रॉसिंग के पास उसे गिरा दिया गया, महिला के अनुसार उसने कहा कि उसे शव ले जाने के लिए कहा गया था।

बस के कंडक्टर ने महिला को बस में चढ़ने के लिए कहा और यहाँ तक कि यात्रा के किसी भी सबूत को मिटाने के लिए उसका यात्रा टिकट भी छीन लिया।

घटना के संबंध में एएनआई द्वारा बाराबंकी डिपो प्रभारी मनोज कुमार से संपर्क किया गया। उन्होंने कहा, “यह मुद्दा मेरी जानकारी में नहीं था लेकिन अब मेरे संज्ञान में लाया गया है। हम इस मामले की जांच करेंगे और ड्राइवर और कंडक्टर के खिलाफ उचित कार्रवाई करेंगे।”