मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, 5300 कश्मीरी विस्थापितों को मिलेगा 5.50 लाख रूपये का मुआवजा

New Delhi : दिवाली के पहले मोदी सरकार ने जम्मू कश्मीर से विस्थापित परिवारों के लिए बड़ा तोहफा दिया है। केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज दिल्ली के शास्त्री भवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस की, जिसमें उन्होंने केन्द्रीय कैबिनेट में हुए फैसलों की जानकारी दी। जम्मू कश्मीर के विस्थापितों के बारें में सरकार के फैसले के बारे में जानकारी दी।

प्रकाश जावड़ेकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में केन्द्रीय कैबिनेट के फैसले के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यह निर्णय लिया गया है कि 5300 विस्थापित परिवार (पीओके से), जो जम्मू-कश्मीर के अलावा अन्य क्षेत्रों में बस गए थे, लेकिन बाद में राज्य में आए, उन्हें भी प्रत्येक को 5.5 लाख रुपये प्रदान किए जाएंगे। इससे इन विस्थापित परिवारों को न्याय मिलेगा।

आपको बता दें कि कैबिनेट की बैठक के बाद जावड़ेकर ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि इस फैसले से 50 लाख केंद्र सरकार के कर्मचारियों और 65 लाख पेंशनभोगियों को फायदा होगा। उन्होंने कहा इसके क्रियान्वन के लिए सरकार 16,000 करोड़ रुपये का खर्च करेगी। सरकार द्वारा लिए गए इस निर्णय को इसी साल के बीते जुलाई महीने से प्रभावी कर दिया जाएगा। अब ये 12 फीसदी से बढ़कर 17 फीसदी हो गया है

इसके साथ ही कैबिनेट ने 5,300 विस्थापित कश्मीरी परिवार, जो कश्मीर क्षेत्र से बाहर बस चुके हैं, उन्हें पुनर्वास के लिए प्रति परिवार 5.5 लाख रुपये देने का फैसला किया है। धारा 370 के हटने के बाद सरकार द्वारा ये उन कश्मीरियों को दी गई सोगात है जो कश्मीर को छोड़ दूसरे राज्यों में जा बसें हैं। बताया जा रहा है ये फैसला सरकार ने कश्मीरी पंडितों को खुश करने के लिए लिया है।