सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा अच्छी सड़कें चाहिए तो टोल भी अदा करना होगा

New Delhi: केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने टोल खत्म होने की संभावनाओं को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि यदि लोगों को अच्छी सड़कें चाहिए तो उन्हें टोल अदा करना होगा। क्योंकि टोल से ही सड़क निर्माण के लिए पैसा आता है। हालांकि उन्होंने स्कूली व राज्य परिवहन निगमों की बसों पर टोल खत्म करने की कई सांसदों की मांग पर विचार का आश्वासन दिया है।

नितिन गडकरी ने इसके साथ ही कहा कि मोदी सरकार में सड़क, पोत परिवहन और जल संसाधन के क्षेत्रों में 17 लाख करोड़ रुपये की परियोजनाओं को अवार्ड किया गया, लेकिन एक रुपये का भ्रष्टाचार नहीं है। गडकरी ने कहा, ‘‘मैं सदन को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि प्रधानमंत्री ने बुनियादी ढांचे के विकास के लिए जो प्राथमिकता तय की थी उसके बहुत अच्छे नतीजे आए हैं। गडकरी के मुताबिक राजमार्ग और भवन निर्माण क्षेत्र में प्रगति दोगुनी हो चुकी है। यह बहुत बड़ी प्रगति है. हर परियोजना हमारे लिए प्राथमिकता है और  हम उसे पूरा करेंगे।
उन्होंने कहा कि पिछले 5 साल में सरकार ने 40 हजार किलोमीटर हाइवे का निर्माण किया। कुछ सदस्यों ने देश के अलग-अलग हिस्सों में टोल से जुटाई रकम पर चिंता जताई थी। गडकरी ने कहा कि उन क्षेत्रों में टोल लिया गया जहां लोग यह राशि दे सकते हैं। इन पैसों से ग्रामीण और पहाड़ी इलाकों में सड़कें बनाई जा रही हैं। गडकरी ने कहा, “मैं सदन को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि प्रधानमंत्री ने बुनियादी ढांचे के विकास के लिए जो प्राथमिकता तय की थी उसके बहुत अच्छे नतीजे आए हैं।”