हाफिज सईद की गिरफ्तारी पर उज्जवल निकम ने कहा-पाकिस्तान दुनिया को पागल बना रहा है

New Delhi : 2008 के मुंबई आतंकी हमलों का मा’स्टरमांइड हाफिज सईद को पाकिस्तान की आ’तंकवाद निरोधक शाखा ने गि’रफ्तार कर लिया है। हालांकि इस पर भारत के मशहूर सरकारी वकील उज्जवल निकम ने कहा है कि पाकिस्तान की इसके पीछे बड़ी सा’जिश हो सकती है वो ऐसा कर के दुनिया को मूर्ख बना रहा है। अगर पाकिस्तान वाकई आतं’कवाद से लड़ना चाहता है तो उसे सईद के खि’लाफ जो सबूत हैं उन सभी को अदालत में पेश करे।

उज्‍ज्‍वल निकम ने कहा, ‘देखिए, मुझे संदेह है कि यह पाकिस्तान की कोई साजिश है। अगर वे मुंबई ह’मले के बारे में जानकारी नहीं देंगे, तो सईद के जु’र्म सामने नहीं आएंगे। ऐसे में पाकिस्तान दावा कर सकता है कि उन्होंने सईद को गिरफ्तार किया था, लेकिन उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला। इसलिए ये पूरा खेल संयुक्त राष्ट्र और अमेरिका के सामने स्वयं को अच्‍छा साबित करने के लिए है।

भारत सरकार के वकील उज्जवल निकम कई चर्चित मर्डर और आतंकी हमलों की पैरवी कर चुके हैं। जिन आतंकवादी घटनाओं में उन्होंने पैरवी की है उनमें 1993 मुंबई सीरियल ब्लास्ट और 2008 मुंबई धमाके प्रमुख हैं।

पाकिस्तानी दून न्यूज ने सूत्रों के हवाले से बताया कि सईद को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

सईद की गिर’फ्तारी लाहौर में पाकिस्तान की आतंकवाद विरोधी अदालत द्वारा मदरसा के लिए भूमि के अवैध इस्तेमाल के एक मामले में संयुक्त राष्ट्र के नामित आतंकवादी को पूर्व-गिरफ्तारी जमानत देने के दो दिन बाद हुई है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने इस महीने की शुरुआत में एक बयान में कहा था “आ’तंकवा’दियों और आतंकी समूहों के खिलाफ कार्रवाई करने की पाकिस्तान की ईमानदारी, उनकी मिट्टी से संचालित होने वाले आतंकी समूहों के खि’लाफ सत्यापन, विश्वसनीय और अपरिवर्तनीय कार्रवाई का प्रदर्शन करने की उनकी क्षमता के आधार पर आंका जाएगा, न कि आधे-अधूरे उपायों के आधार पर”।

जैश-ए-मोहम्मद (JeM) द्वारा जम्मू और कश्मीर के पुलवामा जिले में 40 अर्धसैनिक बलों को मा’र गिराने वाले आ’तंकी हमले के बाद पाकिस्तान के खि’लाफ वैश्विक दबाव में फंसने के वैश्विक दबाव के कारण यह कदम उठाया गया है।