महराष्ट्र : उद्धव ठाकरे कल लेंगे सीएम पद की शपथ

New Delhi: शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस, राकांपा और शिवसेना के विधायकों की बैठक के लिए वाईबी चव्हाण केंद्र में पहुंचे। वह कल महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे।

इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि ,’ महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद का कोई आश्वासन शिवसेना को कभी नहीं दिया गया था। हर सभा में आदित्य ठाकरे या उद्धव जी हमारे साथ स्टेज पर रहे। वहां भी हमने कहा कि देवेन्द्र फडणवीस जी मुख्यमंत्री बनेंगे तो, तब क्यों विरोध नहीं किया गया’।

महाराष्ट्र में जो हुआ, इससे पहले न हुआ था और शायद ही कभी आगे हो पाए। महीना भर चले इस राजनीतिक हलचल को इतिहास के पन्नों में दर्ज कर लिया गया है। कोई भी पार्टी सरकार बनाने का दावा तब पेश करती है जब उसके पास जरुरी आंकड़े मौजूद होते हैं। लेकिन, महाराष्ट्र में ऐसा नहीं हुआ। देवेन्द्र फडणवीस इतने जल्दी में थे कि बिना बहुमत जुटाए ही शपथ ले लिया। और फिर वही हुआ जो होना चाहिए। पूर्व मुख्यमंत्री बन गए।

बता दें कि बुधवार को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद महाराष्ट्र में सियासी खेल एकदम से पलट गया। एक महीने से चल रहा सियासी घटनाक्रम खत्म हुआ और इसी बीच शिवसेना अध्यक्ष उध्दव ठाकरे का मुख्यमंत्री बनना तय हो गया है। होटल ट्राइडेंट में मंगलवार को तीनों दलों के विधायकों की बैठक में यह निर्णय लिया गया। उध्दव ठाकरे 28 नवंबर को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। पहली बार शिवसेना परिवार का कोई नेता राज्य का मुख्यमंत्री बन रहा है।

एनसीपी के महाराष्ट्र प्रमुख जयंत पाटिल ने अगले मुख्यमंत्री के रूप में उध्दव ठाकरे का नाम प्रस्तावित किया था। राज्य में कांग्रेस के प्रमुख बालासाहेब थोराट ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दी। तीनों दलों ने अपने गठजोड़ का नाम ‘महाराष्ट्र विकास आघाड़ी’ नाम दिया है।