शिवसेना का सीएम होने के सपने को पूरा करने के लिए मुझे शाह के मदद की जरूरत नहीं : उद्धव ठाकरे

New Delhi : महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट के बादल गहराते जा रहे है। भाजपा और शिवसेना मुख्यमंत्री पद को लेकर दूरियां बढ़ती जा रही हैं। इसी बीच शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि हमने हमेशा लोगों की आवाज उठाई है। हम सरकार का हिस्सा होने के बाद भी उनसे (बीजेपी) सवाल पूछते थे, इसलिए लोगों ने हमारा समर्थन किया।

शिवसेना प्रमुख ने कहा कि देवेंद्र फडणवीस ने अमित शाह का हवाला देकर 2.5 साल के सीएम की बात होने से इनकार किया, जनता को पता है कौन झूठ बोल रहा। उन्होंने आगे कहा कि शिवसेना का सीएम होने के सपने को पूरा करने के लिए मुझे किसी की मदद की जरूरत नहीं है। उद्धव ठाकरे ने तल्ख तेवर में कहा कि कौन-सच्चा, कौन झूठा है, इसपर बीजेपी के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है।

इससे पहले देवेन्द्र फडणवीस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। भाजपा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस बात का ऐलान किया। प्रेस कॉन्फ्रेंस में फडणवीस ने शिवसेना पर जम का निशाना भी साधा। उन्होंने कहा कि सरकार ना बनाना जनादेश का अपमान है। खरीद-फरोख्त के झूठे आरोप लगाए गए।

देवेंद्र फडणवीस ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि शिवसेना के नेता उद्धव ठाकरे ने नतीजे के बाद पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में विकल्प खुले होने की बात कही, हमें इस बयान से झटका लगा। हमें काफी दुख हुआ।

बता दें कि 21 अक्टूबर को 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा के लिए हुए चुनावों में बीजेपी ने 105 सीटों, शिवसेना ने 56, राकांपा ने 54 और कांग्रेस ने 44 सीटों पर जीत दर्ज की थी।