उद्धव ने सत्ता की लालच में कांग्रेस से मिलाया हाथ, नहीं आने देंगे अयोध्या : महंत परमहंस दास

New Delhi : Maharashtra CM Udhav Thakrey के अयोध्या दौरे का विरोध शुरू हो गया है. अयोध्या की तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने शिवसेना चीफUdhav Thakreyपर रामभक्तों को धोखा देने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा, ‘शिवसेना चीफUdhav Thakrey ने सत्ता की लालच में कांग्रेस से हाथ मिलाकर रामभक्तों को धोखा दिया है. लिहाजा उनको तो अयोध्या में प्रवेश करने दिया जाएगा और ही उनको रामलला के दर्शन करने दिएजाएंगे. मैं खुद Udhav Thakrey का रास्ता रोकूंगा.’

नाराज तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे को मक्का जाने तक की नसीहत दी है. उद्धव ठाकरे परनिशाना साधते हुए महंत परमहंस दास ने कहा, ‘महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का अयोध्या दौरा राजनीति से प्रेरित है. अब उनकोअयोध्या की बजाय मक्का जाना चाहिए.’

परमहंस दास ने कहा, ‘हिंदू हृदय सम्राट बाला साहेब ठाकरे ने हिंदुस्तान को हिंदू राष्ट्र बनाने के लिए शिवसेना का गठन किया था, क्योंकि दुनिया में हिंदुओं के लिए अपना कोई देश नहीं है. बाला साहेब ठाकरे का सपना हिंदुस्तान को हिंदू राष्ट्र बनाने का था.’

परमहंस दास ने कहा, ‘बाला साहेब ठाकरे ने कहा था कि हम शिवसेना को कांग्रेस नहीं बनने देंगे. अगर जरूरत पड़ी, तो हम चुनाव भीनहीं लड़ेंगे, लेकिन सत्ता के लालच में आकर उद्धव ठाकरे ने बाला साहेब ठाकरे का अपमान किया है. अब इनकी अयोध्या में कोई जरूरतनहीं हैं. मैं उद्धव ठाकरे को किसी भी कीमत पर अयोध्या में प्रवेश नहीं करने दूंगा और ही रामलला के दर्शन करने दूंगा.’

परमहंस दास ने कहा, ‘जब तक शिवसेना का कांग्रेस के साथ गठबंधन है, तब तक उद्धव ठाकरे के अयोध्या आने का कोई औचित्य नहींहैं. उन्होंने राम भक्तों के साथ धोखा किया है. राम भक्तों ने उनको इसलिए वोट दिया था, क्योंकि शिवसेना भगवा पार्टी थी और हिंदू राष्ट्रके लिए समर्पित थी. हालांकि अब शिवसेना ने भगवान राम को काल्पनिक कहने वाली कांग्रेस पार्टी के साथ हाथ मिला लिया है. लिहाजा उद्धव ठाकरे की अयोध्या आने की कोई जरूरत नहीं हैं. मैं खुद धर्म दंड लेकर उनका रास्ता रोकूंगा.’

उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पदभार संभालने के 100 दिन पूरे होने के उपलक्ष्य में 7 मार्च को अयोध्या का दौरा करने वाले हैं. शिवसेना सांसद संजय राउत के मुताबिक 7 मार्च को दोपहर में उद्धव ठाकरे अयोध्या में रामलला के दर्शन करेंगे और बाद में सरयू नदी केकिनारे होने वाली आरती में शामिल होंगे.

संजय राउत ने सोशल मीडिया पर एक पोस्टर शेयर करते कहा, ‘आइए हम 7 मार्च को ऐतिहासिक बनाते हैं. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धवठाकरे के साथ अयोध्या चलते हैं. दोपहर श्री राम दर्शन और शाम को सरयू आरती. सभी ऐतिहासिक समारोह में शामिल हों.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

61 − = fifty two