भारत के चक्रव्यूह को भेदने साउथ अफ्रीका ने फील्ड पर उतारे दो नए प्लेयर्स

New Delhi : साउथ अफ्रीकन टीम को हाशिम अमला और डी विलियर्स का कोई तोड़ नहीं मिल पाया है। लेकिन उन्होंने अपने घायल प्लेयर्स की जगह विकेट कीपर और बैट्समैन हेनरिक क्लासेन और स्पिनर जॉर्ज लिंडे को लिया है। इन दो प्लेयर्स का टीम में आना टीम को कितना फायदा देगा ये आज का मैच बताएगा।

जॉर्ज लिंडे एक लेफ्ट आर्म स्पिनर और बल्लेबाज हैं। जॉर्ज ने अपने करियर की शुरुआत 20 वर्ष की आयु में की थी। अब तक हर तरह के मैचों में 200 विकेट लेने में कामयाब रहे हैं जिनमें से सबसे बेहतर चार दिन के गेम में 10 विकेट का बेहतरीन प्रदर्शन था। लिंडे एक बेहतरीन लोअर ऑर्डर के बल्लेबाज भी हैं। लिंडे 1000 फर्स्ट क्लास रन बनाने में कामयाब रहे हैं। लिंडे केशव महाराज की जगह पर टीम में पधारे हैं।

हेनरिक क्लासेन का क्रिकेट से ज्यादा लेना देना नहीं था एक बार कॉलेज में जब क्रिकेट की टीम बनी तो उसका हिस्सा बने फिर ये फितूर ऐसा चढ़ा कि अब सिर से उतरने का नाम ही नहीं ले रहा। 2018 में क्लासेन को धोनी के खिलाफ मैच खेलने का मौका मिला था। तब वो डिकॉक को रिप्लेस कर टीम में आए थे। उस मैच के दौरान मैन ऑफ द मैच बनने में कामयाब रहे।

जीतन पटेल गुजराती छोकरा न्यूजीलैंड का स्पिनर, सिखाएगा इंग्लैंड की टीम को स्पिन बॉलिंग

हेनरिक और लिंडे साउथ अफ्रीका को बैकअप देने के लिए अपना टेस्ट डेब्यू कर चुके हैं। भारतीय टीम भी उनका सामना करने के लिए तैयार है।