खुदाई में मिले इस अनोखे शिवलिंग से आती है तुलसी की खुशबू, हर रोज लगता है भक्तों का मेला

NEW DELHI: आज भी ऐसी बहुत सी चीजें धरती में दफन है जो हमारी पुरानी संस्कृति और सभ्यता के बारे में बहुत कुछ बता सकती है। समय-समय पर पुरातत्व विभाग खुदाई करके हम सभी को चौंका देता है।

ऐसा ही कुछ पुरात्तव विभाग ने चौंकाया जब छतीसगढ़ में खुदाई के दौरान एक शिवलिंग प्राप्त हुआ। माना जाता है कि यह शिवलिंग 2000 वर्ष पुराना है, जो द्वादश ज्योतिर्लिंगों वाले पत्थरों से बना हुआ है।

इस शिवलिंग की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इसमें तुलसी के पत्तों की खुशबू आती है। इसके अलावा 4 फीट लंबा 2.5 फीट की गोलाई वाले इस शिवलिंग में जनेऊ और असंख्य शिव-धारियां पहले से ही मौजूद है। आपको यह जानकर और आश्चर्य होगा कि कई हजार वर्ष पहले यहां एक विशाल मंदिर हुआ करता था। जिसका निर्माण पहली शताब्दी के सरभपुरिया राजाओं द्वारा किया माना गया है।

2वीं सदी में चित्रोत्पला महानदी की बाढ़ से यह विशाल मंदिर पूरी तरह से खत्म हो गया और जो बचा वो धरती में ही दफन हो गया। पिछले कुछ सालों से हो रही खुदाई से पुरातत्व विभाग ने अब तक इस जगह से कई छोटे-बड़े शिवलिंग निकाले, लेकिन बाद में एक विशाल आकार का शिवलिंग निकला तो इसे देखकर सबके होश उड़ गये। यहां आने वाले विनाशकारी भूकम्प और बाढ़ की लहरों से आई रेत और मिट्टी की परतों ने इस इलाके को पूरी तरह से दबा दिया है। इस खुदाई में शिवलिंग के साथ कुछ सिक्के, ताम्रपत्र, बर्तन, शिलालेख एवं प्रतिमाएं आदि भी मिले हैं। माना जाता है ये सभी चीजें करीब 2 हजार साल वर्ष पहले की हैं।