सुदीप रॉय बर्मन से छीना मंत्री पद, त्रिपुरा के CM और डिप्टी CM संभालेंगे उनके मंत्रालय

New Delhi: त्रिपुरा के स्वास्थ्य मंत्री Sudip Roy Barman को राज्य मंत्रिमंडल से हटा दिया गया है। उनके पास स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, आईटी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग का प्रभार था। अब यह मंत्रालय त्रिपुरा के CM को दे दिया गया है।

भारतीय जनता पार्टी के मंत्री Sudip Roy Barman को पार्टी विरोधी गतिविधियों के तहत हटाया गया है। राज्य सरकार से जारी एक अधिसूचना में उनको हटाने की बात सामने आई है। उनको स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, आईटी विभाग, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग का प्रभार दिया गया था। जिसमें से आईटी और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय अब राज्य के CM बिप्लब देब को सौंप दिया गया हैं। साथ ही विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय का जिम्मा अब डिप्टी CM जिष्णु देव वर्मा को सौंपा गया हैं।

बता दें की Sudip Roy Barman ने 2017 में बीजेपी पार्टी ज्वाइन कर ली थी । उससे पहले वे कांग्रेस पार्टी में थे। बर्मन अगरतला निर्वाचन क्षेत्र के मौजूदा विधायक हैं और त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री समीर रंजन बर्मन के पुत्र हैं।

सूत्रों से पता चला है कि Sudip Roy Barman को पार्टी विरोध की वजह से हटाया गया हैं । Sudip Roy Barman ने लोकसभा चुनाव में पार्टी का प्रचार भी नहीं किया था। इतना ही नहीं वो बीजेपी का विरोध कर कांग्रेस का प्रचार-प्रसार करने में लगे थे। इन्हीं रवैयों से परेशान होकर उनको दिए गए मंत्रालयों के प्रभार उनसे छीन लिए गए ।

बता दें कि सुदीप रॉय बर्मन की पहचान त्रिपुरा में एक लोकप्रिय नेता के तौर पर है। इसलिए जब 2 साल पहले सुदीप ने कांग्रेस का हाथ छोड़कर बीजेपी का साथ थामा था तब उनके साथ कांग्रेस के 6 विधायकों ने भी बीजेपी की और रुख कर लिया था । साथ ही Sudip Roy Barman ने त्रिपुरा में बीजेपी-आईपीएफटी गठबंधन को मजबूत करने में बड़ी भूमिका निभाई थी। इस गठबंधन ने 25 सालों से सत्ता में काबिज़ लेफ्ट सरकार को उखाड़ फेंका था।

बर्मन हाल ही में स्वास्थ्य मंत्रालय में अपने काम के लिए खबरों में थे। 22 मई को, उन्होंने दक्षिण त्रिपुरा के बीरचंद्र मनु के एक सरकारी अस्पताल में गर्भपात करने वाले एक डॉक्टर को पकड़ा था।