अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि पर लता मंगेशकर ने गाई कविता, कहा-आदमी सिर्फ आदमी होता है

New Delhi : पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की आज पहली पुण्यतिथि है। पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी की पहली पुण्यतिथि पर उनके स्मारक स्थल पर राष्ट्रीय नेता जुटने लगे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के कई नेता पूर्व प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि देने “सदैव अटल” में जुटें हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा के राष्ट्रीय कार्यवाहक अध्यक्ष जेपी नड्डा और पार्टी के अन्य नेता अटल जी को श्रद्धांजलि देने के लिए इकट्ठा हुए हैं।

जी हाँ, आज से ठीक एक साल पहले 16 अगस्त को उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। अटल जी की पुण्यतिथि पर महान गायिका लता मंगेशकर ने भी अपनी सुरीली आवाज में श्रद्धांजलि अर्पित की है। उन्होंने अपनी आवाज में अटल बिहारी वाजपेयी की कविता शेयर की है।

गायिका लता मंगेशकर ने ट्वीट किया है कि मेरे पिता समान पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न पूज्य अटल बिहारी वाजपेयी की प्रथम पुण्यतिथि पर, मैं उनको कोटि-कोटि प्रणाम करती हूं।

इसके साथ ही उन्होंने एक और ट्वीट किया है। जिसमें लता ने अपनी सुरीली आवाज में एक कविता कही है। उन्होंने बोला कि आदमी न ऊंचा होता है, न नीचा होता है। आदमी न छोटा होता है, न बड़ा होता है। आदमी सिर्फ आदमी होता है। पता नही इस सीधे सपाट सत्य को दुनियां, क्यों नही जानती और अगर जानती है, तो मन से क्यों नही मानती।

आपको बता दें कि जय जवान,जय किसान और जय विज्ञान का नारा देने वाले अटलबिहारी वाजपेयी की शख्सियत किसी चमत्कारी पत्थर से कम नहीं थी। उन्होंने अपना पूरा जीवन देश की जनता और राजनीति को समर्पित कर दिया था। भाजपा को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने में उनके योगदान को नकारा नहीं जा सकता है।

1924 में क्रिसमस के त्योहार में जन्मे वाजपेयी जी शिक्षक के परिवार से ताल्लुक रखते थे। वाजपेयी के विरोधी और दुश्मन न के बराबर थे। यहां तक ​​कि उन्होंने इंदिरा गांधी को मां दुर्गा बताया था और अपनी ही पार्टी के सहयोगियों की व्यापक निंदा भी की थी।