मुम्बई, दिल्ली, अहमदाबाद के लिये मजबूरी में ही बिक रहे ट्रेन टिकट, खाली ही लौट रहीं हैं ट्रेनें

New Delhi : सरकार ने पूरे देश में लोगों को अधिकांश पाबंदी हटाकर राहत दी है। लेकिन रेलवे सेवाएं नियमित नहीं की गई हैं। ट्रेनों में अभी भी लॉकडाउन की स्थिति बरकरार है। हद तो यह है कि जो ट्रेनें चल रही हैं उनमें भी अधिकांश ट्रेनों में सवारी नहीं है। खासकर उन शहरों के लिये जहां कोरोना का संक्रमण बहुत तेजी से बढ़ रहा है।
इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि दिल्ली, अहमदाबाद, बांद्रा टर्मिनस, मुंबई, कोलकाता जैसे स्थानों के लिए जहां एसी व स्लीपर श्रेणी में अक्सर लिमिट से ज्यादा वेटिंग बनी रहती है। इस समय इन ट्रेनों में सीटें खाली पड़ी हैं। फिर से स्पेशल ट्रेनों का संचालन शुरू हुआ तो उत्तर पश्चिम रेलवे जोन से 12 जोड़ी ट्रेनें शुरू हुई हैं।

जिसमें राजस्थान संपर्क क्रांति, जन शताब्दी, राजधानी मुंबई सुपरफास्ट, आश्रम एक्सप्रेस, जोधपुर- बांद्रा टर्मिनस, उदयपुर- दिल्ली सुपरफास्ट समेत कई ट्रेनों में यात्री भार बहुत कम है, लगभग खाली ही जा रही है। इधर, गोरखपुर, कानपुर, आगरा, धनबाद, रेवाडी, हिसार, पंडित दीनदयाल उपाध्याय (मुगल सराय), गया, हावड़ा जैसे कई स्थान ऐसे है, जहां कोविड के मामले कम है। उस तरफ जाने ट्रेनों में एसी-3 व स्लीपर श्रेणी में वेटिंग मिल रही है।
ऐनवक्त पर रोजाना रद्द हो रहे विमान घरेलू विमान सेवा पर भी इसका असर है। रोज करीब एक दर्जन विमान रद्द हो रहे हैं। लोग कोरोना के संक्रमण के भय से यात्रा करने से कतरा रहे हैं। कम यात्री भार के चलते एयरलाइंस ऑपरेशनल कारण बताकर विमान संचालन रद्द कर रही है।
सॉफ्टवेयर खराबी से परेशानी इधर, एयरपोर्ट पर इंडिगो एयरलाइंस का सॉफ्टवेयर खराब हो गया। हालांकि इसे दो घंटे में ठीक कर लिया गया, लेकिन इस दौरान एयरलाइंस को बोर्डिंग पास जारी करने में परेशानी हुई। ऐसे में यात्रियों को मैन्युअल बॉर्डिंग पास जारी करने पड़े। जिससे समय भी अतिरिक्त लगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 + four =