सुप्रीम रार: पब्लिक का रिएक्शन, ‘सुप्रीम कोर्ट को ही नहीं,पूरी न्यायपालिका को बचाने की जरूरत’

सुप्रीम रार: पब्लिक का रिएक्शन, ‘सुप्रीम कोर्ट को ही नहीं,पूरी न्यायपालिका को बचाने की जरूरत’

By: shailendra shukla
January 13, 08:03
0
New Delhi:सुप्रीम कोर्ट के चार जजों द्वारा सीजेआई दीपक मिश्रा पर आरोप लगाने के बाद राजनीतिक गलियारों के साथ-साथ पूरे देश में गर्माहट का माहौल बन गया है। लोगों ने सोशल मीडिया पर इस मामले के पीछे मोदी सरकार को दोषी ठहराया है।

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस चेलमेश्वर, जस्टिस मदन लोकुर, जस्टिस कुरियन जोसेफ, जस्टिस रंजन गोगोई द्वारा मीडिया के समक्ष आकर सीधे-सीधे सीजेआई जस्टिस दीपक मिश्रा पर आरोप लगाने के बाद राजनीति में तो गर्माहट आ ही गई है लेकिन आम लोग भी अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं।
सोशल मीडिया पर अधिकांश लोग इसके पीछे मोदी सरकार को दोषी मान रहे हैं और जमकर अपनी भड़ास निकाल रहे हैं।

इसे भी पढ़ें-

ये है सुप्रीम कोर्ट के जजों में तकरार की असली वजह, जो आपको अभी तक किसी ने नहीं बताई होगी

सीधें जजों पर हमला!

अब...!

यहां तो झड़ी ही लग गई है

खतरे में है लोकतंत्र!

वरिष्ठ पत्रकार दिबांग का कटाक्ष

इसे भी पढ़ें-

‘सुप्रीम’ जजों की रार पर देश के वरिष्ठ पत्रकारों की राय

एक ट्विटर यूजर ने लिखा है, ‘चुनाब आयोग ने गुजरात चुनाबी जितवाया मोदी जी को RBI ने उत्तर प्रदेश चुनाव, सीबीआई और NIA ने अमित शाह और शाध्वी और पुरोहित को छुड़वाया सुप्रीमकोर्ट के न्यायाधीश तो आज जनता के दरबार में आ गए हैं। अब बताओ देश और लोकतंत्र का क्या होगा मोदी जी इस्तीफा दे दो अब तो आप।’

इस तरह से भी लोगों ने मोदी सरकार के खिलाफ इस मामले को लेकर कटाक्ष किया है।


अब क्या कहोगे?

सुप्रीम कोर्ट पर ही सवाल

जो भी हो कटाक्ष तगड़े हैं!

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।