हर मोबाइल यूजर को 20 हजार रुपए देगा ये बैंक, ना कोई कागज चाहिए ना कोई शर्त, बस एक क्लिक करनी है

हर मोबाइल यूजर को 20 हजार रुपए देगा ये बैंक, ना कोई कागज चाहिए ना कोई शर्त, बस एक क्लिक करनी है

By: Ravi Raj
May 16, 17:05
0
New Delhi : सोचो आपको फ्री फंड में एक बैंक 20 हजार रुपए दे दे तो आपको कैसा लगेगा। अरे भाई निकल पड़ेगी आपकी और फिलहाल सच में निकल पड़ी है। 

दरअसल आपकी तमाम कोशिश के बाद भी अगर किसी बैंक ने आपको क्रेडिट कार्ड इश्यू नहीं किया तो यह खबर आपको खुश कर देगी। जी हां, मुंबई स्थित इंस्टेंट क्रेडिट फेसिलेटिंग स्टार्टअप ईपेलेटर (ePayLater) ने निजी क्षेत्र के आईडीएफसी बैंक के साथ करार कर किया है।

इसके तहत भीम यूपीआई का इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को क्रेडिट लिमिट उपलब्ध कराई जाएगी। ईपेलेटर की तरफ से ग्राहकों को ऐसे आउटलेट पर क्रेडिट पेमेंट करने की सुविधा दी जाएगी जहां यूपीआई पेमेंट या भारत क्यूआर पेमेंट से भुगतान करने की सुविधा है।

देश में 3.5 करोड़ क्रेडिट कार्ड धारक : 
ईपेलेटर के को-फाउंडर आरको भट्टाचार्य ने बताया कि देश में 3।5 करोड़ क्रेडिट कार्ड धारक हैं। ऐसे में वे ग्राहक जो छोटी क्रेडिट लिमिट का इस्तेमाल कुछ ट्रांजेक्शन के लिए करना चाहते हैं वे ईपेलेटर का इस्तेमाल कर सकते हैं। भट्टाचार्य ने बताया कि ईपेलेटर के माध्यम से किए गए भुगतान का री-पेमेंट 14 दिन के अंदर करना होगा। इसके लिए ईपेलेटर ने आईडीएफसी बैंक से करार किया है।

20 हजार रुपये की क्रेडिट सुविधा : 
इसके तहत भीम यूपीआई का इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को खरीदारी के लिए क्रेडिट उपलब्ध कराई जा सकेगी। एक हिंदी दैनिक में प्रकाशित खबर के अनुसार एक बार में 20 हजार रुपये तक की क्रेडिट पर खरीदारी की सुविधा मिलेगी।

इस बारे में आईडीएफसी बैंक के सीओओ अवतार मोंगा का कहना है कि नोटबंदी के बाद पेमेंट करने के लिए ग्राहकों के पास क्रेडिट कार्ड के अलावा कई ऑप्शन मौजूद हैं। डिजीटल पेमेंट ज्यादा सुरक्षित है और तेजी से हो जाता है। ऐसे में जिन ग्राहकों को बैंक क्रेडिट कार्ड जारी नहीं करते। ऐसे लोगों के लिए आईडीएफसी बैंक ने ईपेलेटर के साथ मिलकर यह सुविधा शुरू की है। इसमें भीम यूपीआई को कस्टमाइज किया गया है, ताकि भीम एप के उपयोगकर्ताओं को डिजिटल क्रेडिट उपलब्ध कराया जा सके।

ऐसे यूज करें क्रेडिट लिमिट : 
इसके लिए ग्राहकों को सबसे पहले ईपेलेटर एप डाउनलोड करना होगा। यूजर के क्रेडेंशियल के आधार पर एक निश्चित लोन अमाउंट निर्धारित किया जाएगा। इसे यूजर अपनी जरूरत के हिसाब से इस्तेमाल कर सकेगा। लेकिन इसका भुगतान उसे 14 दिन के अंदर करना होगा। 14 दिन इस्तेमाल की गई राशि पर किसी तरह का ब्याज नहीं देना होगा। 14 दिन के बाद 3 प्रतिशत प्रतिमाह के हिसाब से ब्याज लिया जाएगा।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।