सेवादार कहती थी- तुम बाबा की हो और बाबा तुम्हारे,ये सब करते हैं,कल हमारी बारी थी,आज तुम्हारी

सेवादार कहती थी- तुम बाबा की हो और बाबा तुम्हारे,ये सब करते हैं,कल हमारी बारी थी,आज तुम्हारी

By: Naina Srivastava
June 13, 09:06
0
New Delhi: दाती महाराज पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली 25 साल की पीड़िता ने आपबीती सुनाई। पीड़िता ने आपबीती सुनाते हुए कहा कि,  किस तरह से दाती महाराज और उसके साथियों ने दुष्कर्म किया।  

दाती महाराज पर आरोप लगाने वाली  पीड़िता ने एक के बाद नए-नए खुलासे किए। पीड़िता का कहना है कि - दाती महाराज खुद को प्रभू बताता था। वो कहता था मैं तुम्हारा प्रभू हूं, क्यों इधर-उधर भटकना है। मैं सब वासना खत्म कर दूंगा। इसके बाद दाती महाराज और उसके सहयोगियों  ने बारी-बारी से मेरे साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद मार्च 2016 में राजस्थान स्थित गुरुकुल पाली जिले में भी यही कहानी दोहराई गई। मुझे तीन दिन तक जानवरों की तरह नोंचा गया। दाती महाराज के सहयोगी अनिल ने भी मेरे साथ दुष्कर्म किया। 

पीड़िता का कहना है कि- आज मैं उसके खिलाफ शिकायत कर रही हूं। इसके बाद पता नहीं  मैं जिंदा रहूंगी या नहीं, लेकिन मेरे जैसी दूसरी लड़कियों की जिंदगी जरूर बर्बाद होने से बच जाएगी। मैं लंबे समय तक डर के कारण घुट-घुटकर जीती रही लेकिन जब  हिम्मत ने जवाब दे दिया तो पुलिस के पास जाने की ठान ली। 9 फरवरी 2016 को दाती महाराज की सेवादार श्रद्धा मुझे असोला स्थित शनि धाम आश्रम में चरण सेवा के लिए दाती महाराज के पास ले गई। मुझे अंधेरे गुफानुमा कमरे में सफेद रंग के कपड़े पहनाकर भेजा गया। 

सेवादार श्रद्धा कहती थी- ऐसा करने से तुम्हें मोक्ष की प्राप्ति होगी।  यह भी एक सेवा है। तुमबाबा की हो और बाबा तुम्हारे। तुम कोई नया काम नहीं कर रही हो, ये तो सब करते आए हैं। कल न जाने किसकी बारी होगी। बाबा समंदर है और हम सब मछलियां हैं। इसे कर्ज समझकर चुका लो। तुम्हे मोक्ष की प्राप्ती होगी।

पीड़िता का कहना है कि दाती महाराज बहुत खतरनाक आदमी है। उसे फांसी की सजा होनीा चाहिए। मुझे और परिवार को सुरक्षा दी जाए। अगर सुरक्षा नहीं मिली तो मैं और मेरा पूरा परिवार जिंदा नहीं बचेगा। पुलिस ने आरोपी दाती महाराज के साथ उसके सहयोगी श्रद्धा, अशोक, अर्जुन, नीमा जोशी को भी नामजद किया है। 

आप हमारे वीडियो यूट्यूब पर भी देख सकते हैं

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।