यूएस-चीन व्यापारिक वार्ता पर हुआ बड़ा खुलासा, टैरिफ मुद्दे पर बिल्कुल नहीं झुकेगा चीन

यूएस-चीन व्यापारिक वार्ता पर हुआ बड़ा खुलासा, टैरिफ मुद्दे पर बिल्कुल नहीं झुकेगा चीन

By: Madhu Sagar
September 14, 10:44
0
New Delhi: एक बार फिर अमेरिका ने व्यापारिक मुद्दों को सुलझाने के लिए चीन को मना तो लिया है, लेकिन चीन ने संकेत दिया है कि गंभीर मुद्दों पर बातचीत के दौरान चीन आत्मसमर्पण नहीं करेगा।

चीन की आधिकारिक मीडिया रिपोर्टस् में इस बात का खुलासा हुआ है कि चीन ने अमेरिका द्वारा भेजे गए व्यापारिक निमंत्रण को स्वीकार लिया है, लेकिन इस बीच चीन झुकेगा नहीं।

शुक्रवार को जारी इन रिपोर्टस् में खुलासा किया गया है कि व्यापारिक बातचीत के दौरान अमेरिका की एकतरफा मांगों को चीन किसी भी कीमत पर नहीं मानेगा। वहीं दूसरी तरफ ट्रेजरी सचिव स्टीवन म्यूनुचिन द्वारा व्यापारिक मुद्दों पर चीन को मनाने के बाद अमेरिका के सामने नए ट्रेड टैरिफ के निर्धारण की समस्या खड़ी हो जाएगी।

इस मामले में चीन की अधिकारिक रिपोर्टस् में बताया गया है कि चीन व्यापारिक बातचीत के माध्यम से समस्या को हल करने के लिए गंभीर है, लेकिन धीमी अर्थव्यवस्था और शेयर बाजार के गिरने के साथ-साथ इन समस्याओं को सुलझाना उसके लिए काफी मुश्किल होगा।

रिपोर्ट्स में यह भी लिखा है कि ट्रंप प्रशासन को इन गलतफहमियों से दूरी बनानी होगी, क्योंकि अमेरिका के सामने चीन कभी आत्मसमर्पण नहीं करेगा। अगर दोनों देशों के बीच व्यापारिक युद्ध लंबा जा रहा है, तो हमारे पास अर्थव्यवस्था को चलाने के लिए पर्याप्त ईंधन मौजूद है।

रिपोर्टस् के मुताबिक, अगर संयुक्त राष्ट्र आयात पर लेवी लगाएगा तो चीन के हितों की रक्षा के लिए वह अमेरिका के खिलाफ एक्शन लेने में संकोच नहीं करेगा। इस मामले में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट किया कि चीन के साथ व्यापारिक बातचीत करने के लिए हमारे ऊपर कोई दवाब नहीं है, वे हमारे साथ सौदा करने के लिए दवाब में हैं। क्योंकि हमारा बाजार विकास कर रहा है और उनका बाजार लगातार गिरता जा रहा है।

बता दें कि आगामी व्यापारिक वार्ता से पहले भी अगस्त में व्यापारिक बातचीत को आगे बढाया गया था, लेकिन दोनों देशों के अधिकारी इसे अंतिम रूप में देने में नाकाम रहे। फिलहाल, चीन से आयातीत वस्तुओं की 200 बिलियन डॉलर की सूची अमेरिकी प्रशासन ने तैयार करके रखी हैं, जिसको लेकर कुछ दिनों में 10 से 25 प्रतिशत टैरिफ लागू करने की योजना है। अटकलें लगाई जा रही हैं कि अमेरिकी सरकार के इस फैसले के कारण व्यापारिक युद्द को बढ़ावा मिल सकता हैं।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।