Demo Pic

जिन डॉक्टरों पर थूका था आज उनके ही पैर पकड़ बिलख-बिलख कर रोने लगे, कहा- हमे किसी तरह बचा लो

New Delhi : कानपुर के हैलट अस्पताल में निजामुद्दीन मरकज के तबलीगी जमात से जुड़े 3 लोगों को कोरोना वॉर्ड में भर्ती किया गया है। पिछले दिनों इन लोगों ने डॉक्टरों के साथ अभद्रता की थी। उन पर थूका और गालीगलौज भी की थी। अब इन्हें संक्रमण का डर सता रहा है। तीनों जमाती गुरुवार को पैरामेडिकल स्टाफ के पैर पकड़ कर बिलख-बिलख कर रोने लगे। जमातियों ने पैरामेडिकल स्टॉफ से कहा कि हमें घरवालों की याद आ रही है। बस आप लोग हमारी जान बचा लीजिए।

पैरामेडिकल स्टॉफ ने इन जमातियों को समझाया कि जल्दी ठीक होने के लिए आप लोग प्रोटोकॉल का पालन करें। डॉक्टरों की बात मानें और समय से दवा खाएं। जमातियों ने कहा कि वे फीवर चार्ट खुद ही भरेंगे। इसके बाद अस्पताल स्टाफ ने जमातियों का हौसला बढ़ाया और कहा कि आप लोग जीतकर आएं, इसके लिए हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।
दूसरे राज्यों और जिलों से 5581 लोग पलायन कर कानपुर और आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों में आए हैं। सभी के लिए दवा, खाना और जरूरी चीजों की व्यवस्था की गई है। इनका इलाज किया जा रहा है। 5065 लोगों को होम क्वारैंटाइन किया गया है। अब कानपुर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 11 हो गई है जिनमें से 10 जमाती हैं।
निजामुद्दीन मरकज में शामिल होने वाले या जमातियों के संपर्क में आने वाले 125 लोग शहर में छिपे थे। इनकी तलाश में पुलिस टीमों के साथ एटीएस को लगाया था। 125 लोगों की लिस्ट संबंधित थानों को सौंप दी गई है। बुधवार को 40 लोगों को खोज निकाला गया। इन लोगों को होम क्वारैंटाइन किया गया है। अगर इनमें लक्षण मिलते हैं तो इन्हें आइसोलेट कर इलाज किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixty five − = sixty