3 ऐसे खिलाड़ी जिन्होंने भारत और पाकिस्तान दोनों टीमों से क्रिकेट खेला, खूब नाम भी कमाया

NEW DELHI: टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में ऐसे 15 खिलाड़ी हुए हैं, जिन्होंने एक से ज़्यादा देशों के लिए खेला है। अगर भारत और पाकिस्तान के बारे में बात की जाए तो ऐसे सिर्फ 3 क्रिकेटर हैं, जो टेस्ट क्रिकेट में इन दोनों देशों की टीमों का हिस्सा रहे हैं। आइए, उन्हीं तीन क्रिकेटरों के बारे में जानते हैं कि वो तीन क्रिकेटर कौन थे?

अब्दुल हफीज़ कारदार
17 जनवरी 1925 को अविभाजित भारत के लाहौर में जन्मे एएच कारदार का नाम उन तीन क्रिकेटरों में शुमार है, जिन्होंने भारत और पाकिस्तान दोनों देशों के लिए टेस्ट क्रिकेट खेला। कारदार ने घरेलू क्रिकेट कई टीमों के लिए खेला था जैसे ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी, नॉर्दर्न इंडिया और मुस्लिम्स। इसके बाद इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट खेलने वाली भारतीय टीम में कारदार शामिल थे।

आमिर इलाही
1 सितंबर 1908 को अविभाजित भारत के लाहौर में जन्मे आमिर इलाही ने भारत के लिए एक टेस्ट मैच खेला था। इसके बाद 1952-53 में जब पाकिस्तान की क्रिकेट टीम को टेस्ट मैच स्टेटस मिला था, तब आमिर ने पाकिस्तान के लिए 5 टेस्ट मैच खेले। लेग ब्रेक गुगली गेंदबाज़ के तौर पर उन्हें शोहरत भी मिली। आमिर ने पाकिस्तान टेस्ट क्रिकेटरों के बीच कैप #1 हासिल कर अनूठी उपलब्धि दर्ज की थी।

गुल मोहम्मद
15 अक्टूबर 1921 को अविभाजित भारत के लाहौर में जन्मे गुल मोहम्मद का कद छोटा यानी सिर्फ 5′ 5 था लेकिन वो बाएं हाथ के गज़ब के आक्रामक बल्लेबाज़ और कवर के शानदार फील्डर थे। रणजी ट्रॉफी के एक मैच में विजय हज़ारे के साथ मिलकर बल्लेबाज़ी की रिकॉर्ड साझेदारी बनाने वाले गुल ने 1946 में इंग्लैंड और 1947-48 में ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया लेकिन उन्हें ज़्यादा कामयाबी नहीं मिली।

दिलचस्प बात ये है कि 1952-53 में पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज़ में गुल ने भारतीय टीम की तरफ से दो टेस्ट मैच खेले थे। इसके बाद 1955 में गुल ने पाकिस्तान की नागरिकता ली थी और फिर 1956-57 में आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्होंने पाकिस्तान टीम की तरफ से एक टेस्ट मैच खेला था। खिलाड़ी के तौर करियर खत्म होने के बाद गुल क्रिकेट प्रशासन में गए और कोच व गद्दाफी स्टेडियम के डायरेक्टर बोर्ड में शामिल रहे।