इस बार भी नवरात्र में 9 दिनों के उपवास पर रहेंगे PM मोदी, बंगाल में दुर्गापूजा का उद्घाटन करेंगे

New Delhi : भाजपा ने अगले साल पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। यह 22 अक्टूबर को दुर्गा पूजा के अवसर पर शुरू होने जा रहा है। इस दिन, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी राजधानी कोलकाता में दुर्गा पूजा का उद्घाटन करेंगे। अभी यह तय नहीं हो पाया है कि पीएम मोदी खुद कोलकाता जाएंगे या वे कोरोना वायरस के कारण वर्चुअल पूजा कार्यक्रम में भाग लेंगे। दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नवरात्रि के दौरान 9 दिनों के उपवास का पालन करते हैं। कोरोना के बाद भी प्रधानमंत्री इसबार भी पूरी निष्ठा के साथ पूजा पाठ करेंगे। उपवास का अपना अनुष्ठान जारी रखेंगे।

उल्लेखनीय है कि पश्चिम बंगाल में नवरात्रि बहुत धूमधाम से मनाई जाती है। वैसे तो महाल्या एक माह पहले ही हो गया था लेकिन अधिक मास की वजह से इस साल नवरात्रि 17 अक्टूबर से शुरू हो रही है। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर इस बार भाजपा दुर्गा पूजा के जरिए लोगों के बीच अपनी पैठ बनाने की कोशिश करेगी। यही कारण है कि भाजपा की राज्य इकाई ने पीएम मोदी को दुर्गापूजा में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया है।
इतना ही नहीं, बताया जा रहा है कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी 19 अक्टूबर को सिलीगुड़ी में दुर्गापूजा में शामिल होने वाले हैं। इससे पहले 17 को गृह मंत्री अमित शाह इस कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे थे, लेकिन अहमदाबाद में रहने के कारण उनका बंगाल दौरा रद्द कर दिया गया है।
इधर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि दी। मोदी ने ट्वीट किया – डॉ. कलाम को उनकी जयंती पर सलाम। चाहे वे एक वैज्ञानिक के रूप में हों या राष्ट्रपति के रूप में, भारत देश के विकास में उनके योगदान को कभी नहीं भूल सकता। उनके जीवन की यात्रा लाखों लोगों को प्रेरित करती रहेगी। पीएम मोदी ने इस ट्वीट के साथ एक वीडियो भी साझा किया जिसमें वह कलाम से जुड़ी यादों और उनके जीवन से सीखने पर चर्चा कर रहे हैं।

एपीजे अब्दुल कलाम, जो देश के 11 वें राष्ट्रपति थे, उनका जन्म 15 अक्टूबर 1931 को रामेश्वरम, तमिलनाडु में हुआ था। आज उनकी 88 वीं जयंती है। पूर्व राष्ट्रपति कलाम को उनकी सरल जीवन शैली के लिए भी याद किया जाता है। उन्होंने राष्ट्रपति भवन के दरवाजे आम जनता के लिए खोल दिए। इसलिए, उन्हें ‘लोगों का राष्ट्रपति’ भी कहा जाता है। आप डॉ. कलाम की लोकप्रियता और योगदान का अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि संयुक्त राष्ट्र उनके जन्मदिन यानि 15 अक्टूबर को हर साल विश्व छात्र दिवस के रूप में मनाता है। इस दिन, स्कूलों में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। छात्रों के लिए निबंध और भाषण प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifty eight − = forty eight