चाणक्य के ये विचार आपको बनाएंगे विजयी

भारत भूमि पर ऐसे बहुत से महान लोगों ने जन्म लिया जिनकी बुद्धि के लिए आज भी पूरी दुनिया उन्हें जानती है, लेकिन हम भारत के निवासी ही उनके ज्ञान से अनभिज्ञ हैं। ज्ञान जीवन का मूल होता है, अगर हम ये ज्ञान हासिल कर लें तो इससे हमारा पूरा जीवन ही बदल सकता है। आज हम आपको ऐसे ही एक सुप्रसिद्ध कुटनीतिज्ञ और राजनीतिज्ञ के कुछ विचारों से परिचित कराने जा रहे हैं जिनकी बुद्धि के आगे बड़े से बड़े योद्धाभी फेल थे। तो आइए जाने ऐसे ही बुद्धि के धनी चाणक्य के कुछ विचारों को-

1.सबसे बड़ा गुरु मन्त्र है : कभी भी अपने राज दूसरों को मत बताएं, ये आपको बर्वाद कर देगा।

2. हमें भूत के बारे में पछतावा नहीं करना चाहिए, ना ही भविष्य के बारे में चिंतित होना चाहिए, विवेकवान व्यक्ति हमेशा वर्तमान में जीते हैं।

3. हर मित्रता के पीछे कोई ना कोई स्वार्थ होता है, ऐसी कोई मित्रता नहीं जिसमे स्वार्थ ना हो। यह कड़वा सच है।

4. अगर सांप जहरीला ना भी हो तो उसे खुद को जहरीला दिखाना चाहिए।

5. जो लोग मिली हुई चीज को छोड़कर उस चीज के पीछे भागते हैं, जिसके मिलने की कोई उम्मीद ही ना हो, ऐसे लोग मिली हुई चीज को भी खो देते हैं।

6. एक उत्कृष्ट बात जो शेर से सीखी जा सकती है वो ये है कि व्यक्ति जो कुछ भी करना चाहता है उसे पूरे दिल और जोरदार प्रयास के साथ करे।

7. सोना यदि किसी गंदी जगह पर भी पड़ा हो तो उसे उठा लेना चाहिए।

8. इस संसार में कोई ऐसा प्राणी नहीं है जिसमें कोई दोष न हो।

9. शिक्षा, यदि किसी घटिया प्राणी से भी मिले तो लेने में संकोच नहीं करना चाहिए।

10.कोई भी कार्य आरंभ करने के पश्चात उस से घबराना नहीं चाहिए और ना ही उसे बीच में छोड़ना चाहिए।