यात्री के छींकते ही कॉकपिट की इमर्जेंसी एक्ज़िट से कूदकर भागा पायलट

New Delhi : एयर एशिया की एक फ़्लाइट में कुछ ऐसा नजारा बना जो कोरोना वायरस के ख़ौफ़ को बयां करने के लिये काफ़ी है।मामला 20 मार्च का है। पुणे एयरपोर्ट से एयर एशिया की फ्लाइट I5-732 दिल्ली के लिए उड़ान भरने की तैयारी कर रही थी। सारेपैसेंजर अपनी सीटों पर बैठ चुके थे। तभी सबसे अगली पंक्ति के एक यात्री ने छींकना शुरू किया। उसे जुकाम भी था। मौके कीनजाकत को देखते हुए एहतियाती कदम उठाने के बजाय चालक दल के सदस्य घबरा गए। जैसे ही कॉकपिट में बैठे पायलट को इसयात्री के बारे में पता चला, वो इमरजेंसी एक्जिट से कद गया।

इधर विमान के बाकी क्रू मेंबर्स ने प्लेन का पिछला दरवाजा खोला। सारे यात्रियों को पिछले दरवाजे से बाहर निकाला गया। सिर्फसंदिग्ध यात्री के लिए अगला दरवाजा खोला गया। सारे यात्रियों की स्क्रीनिंग की गई जिनमें सबकी रिपोर्ट निगेटिव आई। एयर एशियाके एक प्रवक्ता ने कहा, Row N.1 के बैठे यात्री के कारण 20 मार्च को पुणेदिल्ली की फ्लाइट में ऐसा मामला सामने आया है।Covid-19 को लेकर हर कोई सतर्क है। इसलिए सभी यात्रियों की मेडिकल स्क्रीनिंग की गई। किसी की रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं है।एहतियात के तौर पर प्लेन को रिमोट बे में खड़ा किया गया। संदिग्ध यात्री को सामने के गेट से और बाकी यात्रियों के पिछले गेट सेनिकाला गया।

एयर एशिया ने बताया, अगले गेट को सुरक्षित घोषित किए जाने तक क्रू मेंबर्स ने अपने आप को क्वारंटीन कर लिया। फ्लाइट के कैप्टनने कॉकपिट से लगे इमरजेंटी एक्जिट से बाहर निकलना उचित समझा। इसके बाद पूरे प्लेन में एंटी इन्फेक्शन छिड़काव किया गया।हमारा चालक दल ऐसी कठिन स्थिति में प्रोफेशनल तरीके से काम करता है। इसके लिए वे प्रशिक्षित किए गए हैं। हमें गर्व है कि उन्होंनेइस विषम परिस्थिति में भी धैर्य से काम लिया।

पूरे देश में कोरोना वायरस के 396 से ज्यादा पॉजिटिव मामले पाए गए हैं। 82 शहरों में लॉकडाउन की घोषणा की गई है। अभी तकCovid-19 महामारी ने भारत में सात लोगों की जान ली है। पूरी दुनिया में 11 हजार से ज्यादा लोग इस महामारी के शिकार हो चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ 3 = seven