माऊंटेन मैन के परिवार को सरकार ने भी बेसहारा छोड़ा, लेकिन सोनू सूद बोले- आज से तंगी खत्म

New Delhi : गरीबों के मसीहा बनकर उभरे बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद ने एकबार फिर से मदद का हाथ बढ़ाया है और लोग उनकी प्रशंसा करते हुये नहीं थक रहे हैं। लॉकडाउन में जहां सोनू सूद ने प्रवासी मजदूरों को बसों से, ट्रेन से और प्लेन से उनके घरों तक पहुंचाया वहीं अब अनलॉक के दौरान भी वे लगातार जरूरतमंद लोगों की मदद कर रहे हैं। इस बार सोनू द माउंटेन मैन के नाम से प्रसिद्ध बिहार के गया जिले के दशरथ मांझी के परिवार की मदद के लिए सामने आये हैं। इस बात की जानकारी सोनू ने एक ट्वीट को रिट्वीट करते हुये दी है।

बिहार के गया जिले के द माउंटेन मैन के नाम से प्रसिद्ध दशरथ मांझी का परिवार पिछले कई दिनों से अपने आर्थिक हालातों की वजह से खबरों में बना हुआ है। खबरों की मानें तो कोरोना वायरस की कहर की वजह से बिहार के माउंटेन मैन दशरथ मांझी का परिवार बुरे दौर से गुजर रहा है। यहां अब उनके परिवार के पास एक बच्चे के इलाज कराने के रुपये भी नहीं हैं। प्रशासन से गुहार लगाई गई लेकिन किसी ने नहीं सुनी। ऐसे में परिवार को हजारों का कर्ज लेना पड़ा, लेकिन इसके बाद भी उन्हें बेहतर इलाज नहीं मिल सका। हालांकि अब सोनू सूद उनकी मदद के लिये खुद सामने आये हैं।
एक फैन ने सोनू सूद को टैग करते हुये खबर की कटिंग के साथ दशरथ मांझी के परिवार की मदद करने की गुहार लगाई थी। खबर के पढ़ने के बाद अब अभिनेता की तरफ से जवाब दिया है। सोनू सूद ने जवाब देते हुये लिखा- आज से तंगी ख़त्म। आज ही हो जायेगा भाई।
दशरथ मांझी ने अपनी पत्नी के लिये छेनी और हथौडी से अकेले 360 फुट लंबी, 30 फुट चौड़ी और 25 फुट ऊंचे पहाड़ को काटकर रास्ता बनाया था। उनके इस काम से प्रभावित होकर सरकार ने उन्हें सम्मानित भी किया। उनपर फिल्म निर्देशक केतन मेहता ने मांझी द माउंटेन मैन फिल्म बनाई थी। जिसमें नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने दशरथ मांझी का मुख्य किरदार निभाया था। उनके नाम से सरकार ने जिले में एक अस्पताल का निर्माण और नगर का नामकरण भी किया है। लेकिन परिवार के हालात फिर भी बेकाबू ही निकले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ sixty two = 66