महाकाल के दर्शन हुये, बाबा विश्वनाथ, बांके बिहारी, मां विंध्यवासिनी, माता वैष्णोदेवी का दरबार नहीं खुला

New Delhi : काशी विश्वनाथ मंदिर, माता वैष्णो देवी, मां विंध्यवासिनी धाम सोमवार 8 जून से नहीं खो ले गये। वाराणसी का काशी विश्वनाथ मंदिर मंगलवार से खुलेगा। दिल्ली में मरघट वाले हनुमान मंदिर को भी आज श्रद्धालुओं के लिए नहीं खोला जाएगा। जम्मू-कश्मीर में भी वैष्णो देवी समेत धार्मिल स्थल नहीं खोले जा रहे हैं। उज्जैन का महाकाल मंदिर खोल दिया गया है। हरिद्वार में श्रद्धालु हर की पैड़ी में स्नान कर रहे हैं। लखनऊ की आसिफी मस्जिद, बाराबंकी में देवा शरीफ मजार 24 जून से पहले नहीं खुलेगी। मथुरा जिला प्रशासन ने वृंदावन स्थित बांके बिहारी समेत सभी मंदिरों को 30 जून तक बंद रखने का फैसला किया है। पंचकूला का प्रसिद्ध मनसा देवी मंदिर भी आज नहीं खुलेगा। मंदिर को 9 जून से खोलने का फैसला किया गया है।

 

मां विंध्यवासिनी मंदिर के कपाट सोमवार को नहीं खुले। रविवार शाम पंडा समाज की बैठक हुई। पंडा समाज का कहना है कि काशी विश्वनाथ मंदिर के कपाट खुलने के बाद वहां की व्यवस्थाएं देखकर ही विंध्यवासिनी धाम खोलने पर विचार किया जाएगा। इस संबंध में सोमवार को भी डीएम के साथ बैठक होगी। देश के महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों में शामिल मां विंध्यवासिनी के दरबार में प्रतिदिन बड़ी संख्या में श्रद्धालु जुटते हैं।

 

छूट के तहत दिल्ली समेत देश के ज्यादातर हिस्सों में धार्मिक स्थल, शॉपिंग मॉल, रेस्तरां आदि खोले जा रहे हैं। महाराष्ट्र में ना तो मॉल खुलेंगे और ना ही धार्मिक स्थल। दफ्तर 10 फीसदी स्टॉफ के साथ खुले हैं, लेकिन पब्लिक ट्रांसपोर्ट बंद रहेगा। राजस्थान में आज धार्मिक स्थल नहीं खोले जा रहे हैं, लेकिन होटल रेस्त्रां और मॉल खोल दिया गया है। यूपी के गाजिय़ाबाद में फिलहाल मॉल नहीं खुलेंगे। काशी विश्वनाथ मंदिर को भी नहीं खोलने का फैसला किया गया है।

 

गोरखपुर में सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की। इसके बाद लोग बड़ी संख्या में कतार में खड़े होकर दर्शन के लिए इंतजार करते हुए मंदिर में पहुंचे। गेट पर ही लोगों को सेनेटाइज किया जा रहा है। इसके साथ ही बिना मास्क के किसी को भी प्रवेश की इजाजत नहीं है।

 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यहां पर लोक कल्याण के लिए आज रुद्राभिषेक किया। कोरोना संक्रमण से निजात और लोक कल्याण के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार की सुबह गोरखनाथ मन्दिर में रुद्राभिषेक किया। मंदिर के शक्तिपीठ में आयोजित इस आनुष्ठानिक पूजन को प्रधान पुरोहित आचार्य रामानुज त्रिपाठी वैदिक ने वेदपाठी ब्राह्मणों के साथ सम्पन्न कराया। इससे पहले मुख्यमंत्री ने गुरु गोरखनाथ की वैदिक मंत्रोच्चार के साथ पूजा-अर्चना की और अपने गुरु ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ के समाधि स्थल पर जाकर आशीर्वाद लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two + 7 =