इंग्लिश गेंदबाज जोफ्रा आर्चर हुए नस्लीय दुर्व्यवहार के शिकार, ट्विटर पर बयां किया अपना दर्द

New Delhi : न्यूजीलैंड ने माउंट मोनगानुई में खेले गए पहले टेस्ट मैच के पांचवें दिन इंग्लैंड को पारी और 65 रन से हरा दिया। इसके साथ ही दो मैचों की टेस्ट सीरीज में कीवी टीम 1-0 की बढ़त बना ली है। मगर इस मैच के दौरान न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड पर बड़ा आरोप लग गया। दरअसल, मैच के दौरान इंग्लैंड के तेज गेंदबाज Jofra Archer साथ एक फैन ने नस्लीय दुर्व्यवहार किया।

जोफ्रा ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर अपने दर्द को बयां किया है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि “जब मैं अपनी टीम को हार से बचाने के लिए बल्लेबाजी कर रहा था, तब दर्शकों में से किसी एक शख्स ने नस्लीय दुर्व्यवहार किया। उन्होंने साथ ही बार्मी आर्मी की सराहना की।”

न्यूजीलैंड क्रिकेट एसोसिएशन ने एक बयान जारी कर कहा कि, “हम नस्लीय दुर्व्यवहार के लिए जोफ्रा से माफी मांगेंगे। इस मामले की जांच शुरू कर दी गई है। मैदान पर तैनात सुरक्षाकर्मी उस व्यक्ति की पहचान नहीं कर पाए हैं। इसके लिए सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले जाएंगे। एसोसिएशन मैदान पर इस तरह के बर्ताव को बर्दाश्त नहीं कर सकता है। जरूरत पड़ने पर पुलिस को भी जांच से जोड़ा जाएगा।” इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड(ईसीबी) को भी घटना की जानकारी है।

आर्चर ने इस मैच की पहली पारी में केवल 3 गेंदों का सामना किया और वह 7 मिनट तक क्रीज पर रहे। उन्होंने 1 चौके की मदद से 4 ही रन बनाए। दूसरी पारी में आर्चर ने 50 गेंद खेलीं और 5 चौकों की बदौलत 30 रन बनाए। इंग्लैंड की टीम दूसरी पारी में 197 रन पर ऑलआउट हो गई।