छापा पर छापा मरवाते हैं कुछ नहीं मिलता, अब ये भाजपाई दिल्ली के बच्चों के लिए स्कूल नहीं बनने दे रहे: संजय

New Delhi: कल यानी सोमवार को भारतीय जनता पार्टी के सांसद और दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने मीडिया को संबोधित करते हुए एक बड़ा बयान दिया। बयान में मनोज तिवारी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री पर कथित रुप से 2000 करोड़ रुपये के घो’टाले का आ’रोप लगाया। इस पर आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि – “अरविन्द केजरीवाल पर CBI का छापा कुछ नही मिला। मनीष सिसोदिया पर CBI का छापा कुछ नही मिला। 25 विधायकों पर फ़र्ज़ी मुक़दमा कुछ नही मिला। दिल्ली सरकार के कामों के 400 फ़ाइलो की जाँच कुछ नही मिला हर काम में आपत्ति लगाने वाले भाजपाई अब कह रहे दिल्ली वालों के लिये स्कूल नही बनने देंगे”। 

मनोज तिवारी ने कहा की उनको आरटीआई से पता चला है कि दिल्ली के स्कूलों में कमरों के निर्माण के लिए अतिरिक्त 2000 करोड़ रुपये दिए गए थे। जबकि कमरों के निर्माण में केवल 892 करोड़ रूपए ही खर्च किए गए थे। इसके साथ-साथ जिन 34 ठेकेदारों को निर्माण का काम दिया गया था उनमें आम आदमी पार्टी के नेताओ के रिश्तेदार शामिल हैं। इस पर दिल्ली की सियासत गर्म हो गई है।

मनीष सिसोदिया ने कल मनोज तिवारी को चुनौती दिया कि “अगर मैंने कोई घोटाला किया है तो मुझे गिरफ़्तार करें। या तो मुझे आज शाम तक घोटाले के आरोप में गिरफ़्तार करें या फिर दिल्ली के लोगों से माफ़ी माँगे। दिल्ली के पेरेंट्स से, दिल्ली के बच्चों से माफ़ी माँगें जिनके लिए ये स्कूल बन रहे हैं”।

मनोज तिवारी ने दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया के इस्तीफे की मांग की है। इतना ही न ही बीजेपी दिल्ली अध्यक्ष ने कहा है कि हम यह सुनिश्चित करेंगे कि इस मामले की जांच लोकायुक्त द्वारा की जाए।

इस आरोपों को मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ख़ारिज करते हुए कहा कि-” भाजपा की CBI ने हमारी सारी फ़ाइलें जाँच लीं, कुछ नहीं मिला। घपला हुआ है तो हमें तुरंत गिरफ़्तार करो ना। सारी एजेन्सी तो तुम्हारे पास हैं। ग़रीबों को मिल रही अच्छी शिक्षा क्यों रोकना चाहते हो?